'आप योगेंद्र' या 'एक्स आप योगेंद्र'

इमेज कॉपीरइट PTI

आम आदमी पार्टी और उससे निकाले गए योगेंद्र और प्रशांत भूषण का खेमा ट्विटर पर सुर्ख़ियां बटोर रहा है.

कई लोग उन पर चुटकी ले रहे हैं तो कुछ लोग पार्टी के फ़ैसले पर सवाल उठा रहे हैं.

सैम्युअल के ने ‏@samuelongc से लिखा है, "मुझे सच तो नहीं पता है, लेकिन 'आप' का एक मज़बूत समर्थक होने के नाते मैं महसूस करता हूं कि ये अच्छा क़दम नहीं है."

प्रशांत टंडन ट्विटर हैंडल ‏@PrashantTandy से लिखते हैं, "प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव को निकाले जाने के साथ ही आप का मौजूदा तूफ़ान ख़त्म हो सकता है. फिर से तूफान तब आएगा जब राज्यसभा में लोगों को भेजा जाएगा."

पद्मजा जोशी ने @PadmajaJoshi लिखा है, "योगेंद्र यादव, प्रशांत भूषण, कुमार आनंद और अजित झा पर आख़िरकार गाज गिर ही गई. तो अब खुला पत्र रुक जाएगा?"

'सिर्फ़ एक व्यक्ति बचा'

इमेज कॉपीरइट AFP PTI

वहीं दोनों नेताओं के प्रति सहानुभूति जताते हुए ट्विटर ‏@pamelag2000 से लिखा गया है, "अच्छा नहीं लग रहा है. योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण ने अरविंद केजरीवाल और आप को तब अपना समय भी दिया और पैसा भी, जब वो कुछ नहीं थे."

अभिजीत मजूमदार ‏@abhijitmajumder से लिखते हैं, "प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव के जाने के बाद आप ने रिकॉर्ड टाइम में अपनी कोर टीम खो दी है. अब सिर्फ़ एक ही व्यक्ति बचा है जिसके इर्द गिर्द हां में हां मिलाने वाले लोग हैं."

इमेज कॉपीरइट twitter

रोज़ मैरी ने @rozzmarrie ने योंगेंद्र यादव को नसीहत दी है, "अब योंगेंद्र यादव को अपना ट्विटर हैंडल @AapYogendra से बदलकर @ExAapYogendra कर देना चाहिए."

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक पर और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)