पार्टी मेंबरों से जात पूछेगी बीजेपी!

बीजेपी इमेज कॉपीरइट AP

नवंबर 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने मद्रास हाई कोर्ट के जाति के आधार पर जनगणना करने के लिए पारित आदेश को खारिज कर दिया था.

लेकिन इस साल भारतीय जनता पार्टी पिछले छह महीनों में बने अपने नए सदस्यों से उनकी पसंद, शौक और जाति संबंधी जानकारी लेगी.

भाजपा का सदस्यता अभियान 30 अप्रैल को ख़त्म हो रहा है और एक मई से 'महासंपर्क अभियान' शुरू होगा.

(पढ़ें- क्या बीजेपी की बात बन पाएगी)

जाति की जानकारी

इमेज कॉपीरइट Reuters

इस महासंपर्क अभियान के दौरान प्रत्येक नए सदस्य से इंटरव्यूह होगा और उसमें उनके शौक और जाति की जानकारी ली जाएगी.

इन जानकारियों को इकट्ठा करने के लिए एक प्रोफोर्मा भी तैयार किया गया है.

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेयी ने सदस्यों से जातिगत जानकारी मांगने के संबंध में अनभिज्ञता व्यक्त की और कहा, यह "मेरी जानकारी में नहीं है."

उद्देश्य

इमेज कॉपीरइट AP

लेकिन पार्टी के अभियान प्रभारी प्रकाश शर्मा जातिगत जानकारी मांगने की बात की न सिर्फ पुष्टि करते हैं बल्कि उसे औचित्यपूर्ण भी ठहराते हैं.

वे पूछते हैं, "आप कोई भी फ़ॉर्म भरते हैं तो उसमे जाति/धर्म पूछा जाता है या नहीं?"

उन्होंने कहा, "भारतीय जनता पार्टी सबको साथ लेकर चलने वाली पार्टी है, समाज के हर वर्ग और धर्म के लोगों को साथ लेकर चलना हमारा उद्देश्य है. और भी बातें पूछी जा रही हैं लेकिन आप लोग एक जाति पर ही क्यों अटक गए."

(पढ़ें- बीजेपी का चुनाव अभियान शुरू)

लोगों को जोड़ेंगे

इमेज कॉपीरइट EPa

लक्ष्मीकांत बाजपेयी ने कहा कि जो भी अन्य जानकारी ली जा रही है उसकी मदद से प्रधानमंत्री के कार्यक्रमों को पूरा करने के लिए हम एक संगठन खड़ा करेंगे.

उन्होंने बताया, "अगर किसी का शौक सफ़ाई है तो उसे स्वच्छता अभियान से जोड़ दिया जाएगा."

इमेज कॉपीरइट Reuters

बाजपेयी के अनुसार इस अभियान के दौरान पार्टी से जुड़ने वाले हर सदस्य से यह भी पूछा जाएगा कि वो किस तरह के रोज़गार से जुड़ा है. इस जानकारी के माध्यम से उन्हें आर्थिक मदद मुहैया कराई जाएगी.

पार्टी को उम्मीद है कि इस जानकारी के ज़रिए ये पता चलेगा कि नए सदस्यों में किन जाति और धर्म के लोग उससे जुड़ रहे हैं.

दलित वर्ग पर विशेष ध्यान इसलिए होगा क्योंकि भाजपा चाहेगी कि 2017 के विधानसभा चुनाव में भी मायावती की झोली खाली रहे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार