नेपाल में भूकंप कई मरे, भारत में आपात बैठक

नेपाल काठमांडू इमेज कॉपीरइट Sheelendra Shakya
Image caption नेपाल काठमांडू के पाटन दरबान इलाक़े में भूकंप के बाद तबाही

नेपाल में भूकंप का बड़ा झटका आया है, कई लोगों के मरने की ख़बरें आ रही हैं.

नेपाल के सूचना मंत्री मीरेंद्र रिजाल ने बीबीसी को बताया है कि वे भूकंप के केंद्र के आसपास के इलाक़ों में नुक़सान का आकलन कर रहे हैं.

नेपाल के साथ-साथ भारत की भारत की राजधानी दिल्ली समेत पूरे दक्षिण एशिया के कई इलाक़ों में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं.

अमरीकी भूविज्ञान केंद्र के मुताबिक भूकंप का केंद्र काठमांडू से 80 किलोमीटर दूर लमजुंग में है. नेपाल में पहला झटका 11 बजे करीब एक मिनट तक महसूस किया गया.

इस केंद्र के मुताबिक रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 7.9 मापी गई.

Image caption पशुपति नाथ मंदिर सुरक्षित

नेपाल की पुरानी और लोकप्रिय इमारत धरहरा के इससे प्रभावित होने की ख़बर है.

पशुपति नाथ मंदिर को इस भूकंप से कोई क्षति नहीं हुई है.

देहरादून मौसम विभाग के निदेशक आनंद शर्मा के मुताबिक भूकंप का दूसरा झटका करीब 40 मिनट बाद आया. इसकी तीव्रता 6.6 मापी गई. इसका केंद्र नेपाल में पोखरा के आसपास था.

दिल्ली में बुलाई गई आपात बैठक

इमेज कॉपीरइट Sheelendra Shakya
Image caption नेपाल काठमांडू के पाटन दरबान इलाक़े में भूकंप के बाद तबाही

प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली में शनिवार 3 बजे मंत्रियों की आपात बैठक बुलाई है.

इस आपदा के दौरान नेपाल के प्रधानमंत्री सुशील कोइराला देश से बाहर थे. प्रधानमंत्री मोदी ने नेपाल के राष्ट्रपति राम बरन यादव से बात की है.

दक्षिण एशिया पर असर

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption नेपाल काठमांडू में भूकंप के बाद बचने के लिए बैठे लोग

नेपाल के साथ-साथ समूचे उत्तर भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश में भी इसके झटके महसूस किए गए.

दर्जनों लोग काठमांडू के मुख्य अस्पताल में भर्ती कराए गए हैं. नेपाल की राजधानी में कई इमारतों के गिरने की ख़बर है, इसमें कई पुराने मंदिर भी हैं. हालांकि अभी आंकड़ों की पुष्टि नहीं हो पाई है, काठमांडू में भारी संख्या में लोगों के हताहत होने की ख़बर है.

इमेज कॉपीरइट Sheelendra Shakya

स्थानीय टीवी चैनल नेपाल वन के अनुसार यहां से आने-जाने वाली फ्लाइट्स को अभी के लिए डाइवर्ट किया गया है. अभी इन्हें नेपाल में लैंड करने की इजाज़त नहीं दी गई है.

भारत में भी झटके

दिल्ली मे भूकंप स्थानीय समयानुसार 11.45 मिनट पर आया.

इसके बाद दिल्ली के स्थानीय समयानुसार 12 बजकर 20 मिनट पर भूकंप के झटके दोबारा महसूस किए गए.

उत्तर भारत के देरहादून से पश्चिम भारत के अहमदाबाद और पूर्व में कोलकाता और रायपुर तक इसके झटके महसूस किए गए.

इमेज कॉपीरइट AP

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्विटर के ज़रिए कहा कि नेपाल के साथ-साथ भारत के कई हिस्सों में झटके महसूस किए गए हैं.

उन्होंने कहा, "हम अधिक जानकारी पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं. हम भारत और नेपाल में उन लोगों के पास पहुंचना चाहते हैं जो इससे प्रभावित हुए हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)