'मोदी-शाह-जेटली की त्रिमूर्ति चलाती है पार्टी'

मोदी और अमित शाह इमेज कॉपीरइट Reuters

अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे अरुण शौरी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कड़ी आलोचना की है और कहा है कि मोदी, अमित शाह और अरुण जेटली की त्रिमूर्ति ही पार्टी को चला रही है.

उन्होंने आरोप लगाया है कि नरेंद्र मोदी भारतीय अर्थव्यवस्था से ठीक ढंग से नहीं निपट रहे हैं. साथ ही पीएम ने दक्षिणपंथी गुटों की ओर से ईसाइयों और उनकी संस्थाओं पर हो रहे हमलों पर अपनी आँखें बंद कर ली है.

अंग्रेज़ी न्यूज़ चैनल हेडलाइंस टूडे को दिए गए विशेष इंटरव्यू में अरुण शौरी ने कहा, "मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और वित्त मंत्री अरुण जेटली की त्रिमूर्ति पार्टी को चला रही है. इसने विपक्ष को तो अपमानित किया ही है साथ ही बीजेपी के सदस्यों को भी डराया है."

अरुण शौरी ने एनडीए की पहली सरकार के दौरान विनिवेश, संचार और सूचना तकनीक मंत्रालय का नेतृत्व किया था और उन्हें भारतीय अर्थव्यवस्था पर सबसे प्रभावशाली लोगों में एक माना जाता था. लेकिन नई सरकार में वाजपेयी काल के अन्य भाजपा नेताओं की तरह उन्हें भी कोई जगह नहीं मिली.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इंटरव्यू के दौरान जब उनसे ये पूछा गया कि क्या मोदी सरकार ने भारत को 8 प्रतिशत विकास दर के रास्ते पर लाने में पर्याप्त काम किया है, जो जल्द ही 10 प्रतिशत तक हो सकता है, अरुण शौरी ने कहा कि ये सब अतिश्योक्ति है, ऐसे दावे सुर्खियों में आने के लिए होते हैं, लेकिन इनमें कोई वास्तविकता नहीं.

मोदी काल में अर्थव्यवस्था को दिशाहीन बताते हुए अरुण शौरी ने कहा कि अर्थव्यवस्था की कोई बड़ी तस्वीर नज़र नहीं आ रही है.

शौरी ने महंगाई कम करने, विदेशी निवेश को बढ़ाने और अन्य दावों का ख़ारिज किया. उन्होंने मोदी की विवादित सूट पर भी सवाल उठाए और कहा कि ये उनकी बड़ी ग़लती थी. शौरी ने कहा- आप गांधी का नाम लेकर ऐसी चीज़ें नहीं पहन सकते.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार