सुखबीर बादल ने अपनी ही बसों को हटाया

फ़ाइल फोटो इमेज कॉपीरइट Ravinder Singh Robin

पंजाब के उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने ऑर्बिट की बसों को सड़कों से हटाने का आदेश दिया है.

बुधवार को मोगा में ऑर्बिट बस सेवा में ये कथित छेड़छाड़ की घटना हुई. ऑर्बिट बस सर्विस मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के परिवार की ही है.

छेड़छाड़ की घटना के बाद बस से गिर कर एक नाबालिग लड़की की मौत हो गई. इस हादसे में बस से कूद कर घायल हुई उसकी मां की हालत गंभीर है.

मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के मीडिया सलाहकार हरचरण बैंस ने बीबीसी को बताया कि सुखबीर सिंह बादल ने ऑर्बिट कंपनी की बसों को तत्काल प्रभाव से सड़कों से हटाने के आदेश दिए हैं.

पहले प्रशिक्षण

इमेज कॉपीरइट Ravinder Singh Robin

सुखबीर सिंह बादल ने कहा है कि ऑर्बिट बस सेवा के कर्मचारियों को पहले प्रशिक्षण दिया जाएगा. प्रशिक्षण कार्यक्रम पूरा होने तक बसें सड़कों पर नहीं चलेंगी.

कथित छेड़छाड़ की घटना और फिर नाबालिग लड़की की मौत के बाद पूरे देश से इसके विरोध में आवाज़ें उठीं थीं.

इमेज कॉपीरइट AFP

पंजाब सरकार ने पीड़िता के परिवार को 20 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की थी, लेकिन परिवार ने इस सहायता को यह कहते हुए ठुकरा दिया कि 'उन्हें समझौता नहीं, इंसाफ़ चाहिए.'

लड़की के परिवार ने बस सर्विस के मालिकों के साथ-साथ शामिल दोषियों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई की मांग की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार