जिन्हें पसंद नहीं आया 'मदर्स डे'

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

मदर्स डे पर रविवार को जहां गूगल ने डूडल बनाया वहीं सोशल मीडिया पर बधाइयों और आलोचना का दौर चलता रहा.

सोशल मीडिया पर कुछ लोग ऐसे भी दिखे जो इसको ठीक नहीं मानते.

उनके अनुसार मां से केवल एक ही दिन प्यार क्यों जताया जाए. कुछ ने इसे बाज़ारवाद को बढ़ावा देना बताया. हालांकि मदर्स डे को मनाने वालों की भी कमी नहीं थी.

फेसबुक यूज़र क्रांति मिश्रा लिखती हैं, ''कुछ भी कहने को नहीं है.. मैं भगवान की शुक्रगुज़ार हूं कि उन्होंने मुझे आप जैसी मां दी. शब्द मेरी भावनाओं को बयां नहीं कर सकते. आपको बहुत सारा प्यार. हैप्पी मदर्स डे.''

वहीं वाणी शुक्ला ने लिखा, ''मां केवल जन्म नहीं देती. मेरे लिए मां ईश्वर का साक्षात स्वरूप होती है, जो प्यार और संवेदना से भरी होती है. मेरी ज़िंदगी में आने के लिए शुक्रिया.''

एक और यूज़र सोनिया सेहरावत लिखती है, ''मां मेरे दिल में आपके लिए कितना प्यार है उसे व्यक्त करने के लिए फेसबुक की ये वॉल कम पड़ जाएगी. हैप्पी मदर्स डे.''

इमेज कॉपीरइट google
Image caption 'मदर्स डे' पर गूगल का डूडल

बॉलीवुड सितारों ने भी सोशल साइटों पर अपनी भावनाएं साझा की.

एक्टर रणवीर सिंह ने अपनी मां के साथ फोटो पोस्ट की तो परिणीति चोपड़ा ने भी मां के साथ तस्वीरें शेयर की.

कुछ को थी आपत्ति

कुछ ने चुटकी भरे अंदाज़ में इसका विरोध किया. पंकज के चौधरी ने लिखा, ''मैं कहता हूँ कुछ और नाम लिस्ट में जोड़ लो जैसे ..मदर इन लॉ डे, फादर इन लॉ डे, जीजू डे, साली डे, शोभा डे, वन डे और मन्ना डे.''

तो वहीं मोहम्मद शाहिद ने लिखा, ''आज पूरा एफबी माता की चौकी हुआ पड़ा है...''

एक अन्य यूज़र प्रीनी ओबरॉय ने लिखा, ''हां, सही है आज मां के लिए लंबी-लंबी पोस्ट लिखो और कल से फिर उसे रोज़ की तरह खटाओ. हद हो गई.''

तो वहीं रोज़ी परवीन लिखती हैं, ''चलो एक दिन तो हम सबने अपनी मां को इजज़्त दी. बाकी दिन तो भगवान भरोसे ही है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार