प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

श्रोताओं की बीबीसी से जुड़ने की कहानी

बीबीसी हिंदी सेवा के पचहत्तर साल पूरे होने पर इसके कुछ पुराने श्रोताओं ने अपनी खट्टी-मीठी यादें साझा कीं.

देशभर से वर्षों से बीबीसी रेडियो सुनते चले आ रहे लोगों ने अपने अनुभव बताए.

सुनिए श्रोताओं की बीबीसी से जुड़ने की कहानी उन्हीं की जुबानी मोहनलाल शर्मा के साथ.