क्वालिफ़ायर में चेन्नई की टक्कर मुंबई से

इमेज कॉपीरइट Getty

आईपीएल-8 में अब फाइनल में पहुंचने की जंग शुरू हो चुकी है. प्ले ऑफ में पहुंची चेन्नई सुपर किंग्स, रॉयल चैलेंजर्स बैंग्लौर, राजस्थान रॉयल्स और मुंबई इंडियंस अपनी आखिरी परीक्षा की तैयारी में हैं.

पहले क्वालिफ़ायर में चेन्नई सुपर किंग्स का सामना मुंबई इंडियंस से होगा. महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में खेल रही चेन्नई ने अपने आपको वाकई सुपर किंग्स साबित करते हुए 14 में से 9 मुक़ाबले अपने नाम किए और 18 अंकों के साथ पहले स्थान पर रही.

शुरूआती दौर में एक के बाद एक लगातार चार हार का सामना करने के बाद आखिरकार मुंबई ने जैसे-तैसे प्ले ऑफ में जगह बनाई. उसने 14 में से 8 मुक़ाबले जीते और 16 अंको के साथ दूसरे स्थान पर रही.

घरेलू मैदान का लाभ

इमेज कॉपीरइट AFP

रोहित शर्मा की कप्तानी में खेल रही मुंबई इंडियंस को सबसे बड़ा लाभ अपने मैदान वानखेडे स्टेडियम में खेलने का मिलेगा. वैसे मुंबई ने पिछले अहम मुक़ाबले में हैदराबाद को 9 विकेट से मात दी. मुंबई के गेंदबाज़ों ने हैदराबाद की पूरी टीम का पुलिंदा महज़ 113 रनों पर बांध दिया.

उसके तेज़ गेंदबाज़ मिचेल मैकलेनघन ने केवल 16 रन देकर तीन विकेट झटके. न्यूज़ीलैंड के इस खब्बू तेज़ गेंदबाज़ ने पिछले 10 मैचों में 14 विकेट झटके है.

लसिथ मलिंगा का जादू वैसे शुरुआती मैचों में नहीं दिखा और क्रिकेट पंडितों ने उन्हें चुका हुआ मान लिया था लेकिन उसके बाद उन्होंने अपने अनुभव के दम पर विरोधी बल्लेबाज़ों की नाक में दम कर दिया. वह अभी तक 19 विकेट अपने नाम कर चुके हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

हरभजन सिंह ने पिछले 10 मुक़ाबलों में विकेट तो केवल 9 लिए है लेकिन काफी कसी हुई गेंदबाज़ी की है.

मुंबई की ताक़त

बल्लेबाज़ी में मुंबई का दारोमदार कप्तान रोहित शर्मा के अलावा अच्छी फॉर्म में चल रहे सलामी बल्लेबाज़ पार्थिव पटेल और लेंडल सिमंस पर रहेगा. बाद में अंबाति रायडू, किरॉन पोलार्ड और हार्दिक पांड्या मोर्चा संभाल सकते हैं.

दूसरी तरफ महेंद्र सिंह धोनी, फैफ डू प्लेसिस, सुरेश रैना, माइकल हसी और ड्वेन ब्रावो के दम पर चेन्नई की बल्लेबाज़ी भी कम नहीं है. चेन्नई की ख़ासियत उसकी कसी हुई फिल्डिंग है जिसके दम पर उसने इस बार कम स्कोर वाले भी कई मैच अपने नाम किए.

इमेज कॉपीरइट Getty

उनके तेज़ गेंदबाज़ आशीष नेहरा अभी तक 18 विकेट ले चुके हैं. आर अश्विन और रविंद्र जडेजा भी अपनी फिरकी में किसी भी बल्लेबाज़ को फंसा सकते है. चेन्नई को वैसे ब्रैंडन मैक्कुलम की कमी खल सकती है.

आंकड़ो में दोनो टीमें अभी तक 20 बार आमने-सामने हुई है. दोनो टीमों ने 10-10 मैच अपने नाम किये हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार