भाजपा से परहेज़ नहीं, साथ लेंगे-देंगे: मांझी

जीतनराम मांझी इमेज कॉपीरइट PIB

बिहार में पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने विधानसभा चुनावों के बाद भाजपा का सहयोग लेने की बात कही है.

बीबीसी से ख़ास बातचीत में उन्होंने कहा कि, "ज़रूरत पड़ने पर चुनाव के बाद भाजपा की मदद से भी सरकार बना सकते हैं और भाजपा को मदद भी दे सकते हैं. भाजपा हमें कोई परहेज नहीं है."

मांझी ने साफ किया कि वो फिर से जेडीयू या फिर जनता परिवार का हिस्सा नहीं बनेंगे.

उन्होंने कहा, "हमारे 34 निर्णयों को नीतीश कुमार ने रद्द कर दिया और इसी सवाल पर हमने पार्टी को छोड़ा है. उन्हीं नीतीश कुमार को लालू यादव नेता मानकर चल रहे हैं. इसलिए उनके साथ जाने का कोई औचित्य नहीं है."

वो कहते हैं, "नीतीश कुमार को अगर हटाकर मुझे मुख्यमंत्री के उम्मीदवार के रूप में लालू लाते हैं तो फिर इस बारे में सोचेंगे. इसके बिना बात करने का कोई सवाल नहीं उठता."

मोदी की तारीफ़

इमेज कॉपीरइट Bihar Govt
Image caption मुख्यमंत्री पद से हटाए जाने के बाद मांझी ने जेडीयू छोड़ अपनी पार्टी बनाई

अपनी पार्टी के भविष्य के बारे में वे कहते हैं, "243 सीटों पर हमारी तैयारी चल रही है. चुनाव के पूर्व गठबंधन की हमारी कोई योजना नहीं है. चुनाव के बाद की परिस्थितियों में गठबंधन को लेकर हम विचार कर सकते हैं."

उनका कहना है कि, "भाजपा और नरेंद्र मोदी की जो कथित तौर पर सांप्रदायिक छवि है, लेकिन कहीं भी मैं यह नहीं देख रहा हूं कि उसे नरेंद्र मोदी बढ़ा रहे हैं."

उन्होंने बताया कि अभी उन्होंने प्रधानमंत्री से बातचीत करने के लिए समय मांगा है.

(बीबीसी संवाददाता विनीत खरे से बातचीत पर आधारित)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार