केजरी सरकार के 100 दिन, ट्विटर पर खिंचाई

केजरीवाल इमेज कॉपीरइट Reuters

जहां केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार जल्द एक साल पूरा करने जा रही है, वहीं दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने 100 दिन पूरे कर लिए हैं.

और इसीलिए वो सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं. उनके बहुत से आलोचक #100LiesFakeriwal से ट्वीट कर रहे हैं और ये हैशटेग ख़ूब ट्रेंड कर रहा है.

जानी मानी पत्रकार तवलीन सिंह सवाल करती हैं, "क्या कोई मुझे केजरीवाल के 100 शासन की उपलब्धियां बता सकता है."

इमेज कॉपीरइट AFP

@ls2008 हैंडल से किए गए एक ट्विट में केजरीवाल से पूछा गया है, “जनलोकपाल कहां है? दिल्ली में क्यों कोई लोकायुक्त नहीं है? आम आदमी पार्टी में कोई आंतरिक लोकपाल क्यों नहीं है?”

न खाता न बही..

चंद्र कांत ने ट्वीट में कहा है, “उन्होंने राजनीति में लोगों को बेवकूफ़ बनाने के नए मानक और बुद्धिहीनता के स्तर बनाए हैं.”

एसजी रामादुरई और मनोज प्रभाकरन ट्विटर पर कहते हैं, “100 दिन के बाद भी लोकपाल नहीं मिला, कहां है वह लोकपाल जिसके लिए इन्होंने 49 दिनों में मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया था.”

इमेज कॉपीरइट Reuters

राजन शर्मा लिखते हैं, “न खाता न बही जो केजरीवाल कहे वो सही.”

शालू कौशिक सभी से निवेदन करती हैं कि दिल्ली वालों के साथ सहानुभूति रखिए.

गौरव लिखते हैं, “राहुल: बीजेपी सूट बूट की सरकार है, मोदी: हमारी सूझबूझ की सरकार है, केजरीवाल: हम तो छोटे आदमी है जी हमारी तो झूठमूठ की सरकार है.”

'भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ कदम'

ट्विटर पर कई केजरीवाल के समर्थन में भी ट्विट कर रहे हैं.

@brownbrumby से लिखा गया है, "आप आम आदमी पार्टी के समर्थक या विरोधी हो सकते हैं. लेकिन इस सच से इनकार नहीं कर सकते हैं कि केजरीवाल भ्रष्टाचार के खिलाफ कदम उठा रहे हैं और भाजपा भ्रष्टाचार को संरक्षण दे रही है."

अंकित सिंह लिख रहे हैं कि यह ट्रेंड बताता है कि मोदी समर्थक कितने ख़फ़ा हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार