'मोदी सरकार हमारी योजनाओं की नकल कर रही'

मनमोहन सिंह इमेज कॉपीरइट AFP

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने कहा है कि उन्होंने कभी ख़ुद, परिवार या दोस्तों को बढ़ाने लिए जनता के पैसे का उपयोग नहीं किया.

वो बुधवार को नई दिल्ली में कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई के एक कार्यक्रम में बोल रहे थे.

उल्लेखनीय है कि दूरसंचार नियामक 'ट्राई' के पूर्व प्रमुख प्रदीप बैजल ने अपनी किताब 'द कंपलीट स्टोरी ऑफ़ इंडियन रिफार्म: 2 जी पॉवर एंड प्राइवेट इंटरप्राइजेज ए प्रैक्टिशनर डायरी' में आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री मनमहोन सिंह ने उन्हें टू जी घोटाले के आरोपियों की मदद न करने पर गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी थी.

लोकतांत्रिक संस्थाएं

मंगलवार को एक साल पूरा करने वाली नरेंद्र मोदी की सरकार पर आरोप लगाते हुए पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि इस सरकार के कार्यकाल में लोकतांत्रिक संस्थाएं ख़तरे में हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

उन्होंने कहा कि लोगों का ध्यान ग़ैर-ज़रूरी मुद्दों की तरफ ले जाने के लिए भाजपा ने भ्रष्टाचार का मुद्दा उछाला.

पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि मोदी सरकार में अर्थव्यवस्था की हालत बहुत कमज़ोर है.

उन्होंने कहा कि उनके कार्यकाल के दौरान पॉलिसी पैरालिसिस की बात झूठी है.

पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि उनके कार्यकाल के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था की विकास दर दुनिया में दूसरे स्थान पर थी.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पूर्व प्रधानमंत्री ने यह स्वीकार किया कि पिछले एक साल में अर्थव्यवस्था सुधरी है.

मनमोहन सिंह ने आगे कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार के अब तक के कार्यकाल में निर्यात में गिरावट आई है और ग्रामीण क्षेत्रों की हालत खराब है.

मनमोहन सिंह ने नरेंद्र मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी योजना 'मेक इन इंडिया' को यूपीए सरकार की योजनाओं की कार्बन कॉपी बताया. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार उन योजनाओं को लागू कर रही है जिसे यूपीए सरकार ने अपने कार्यकाल में शुरू किया था.

मनमोहन सिंह का बयान आते ही भाजपा ने उनके आरोपों का जवाब दिया. भाजपा प्रवक्ता डॉक्टर संबित पात्रा ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मनमोहन सिंह की आर्थिक समझ का फायदा देश को नहीं हुआ. मनमोहन सिंह कठपुतली प्रधानमंत्री थे.

उन्होंने कहा कि यूपीए के दस साल के कार्यकाल में केवल भ्रष्टाचार ही मुद्दा रहा. यूपीए सरकार में लूट होती रही.

उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी की सरकार ने भ्रष्टाचार पर रोक लगाकर दिखाया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं. )

संबंधित समाचार