ब्रिटिश नागरिक की हत्या के मामले में गिरफ़्तारी

रंजीत सिंह पावर इमेज कॉपीरइट

तीन हफ़्ते पहले भारत में लापता हुए ब्रितानी करोड़पति रंजीत सिंह की हत्या के सिलसिले में पुलिस ने सुखदेव सिंह को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस ने दावा किया है रंजीत के हत्या में उनके दोस्त बलदेव सिंह भी अभियुक्त हैं.

रंजीत सिंह को आख़िरी बार आठ मई को अमृतसर के एयरपोर्ट पर देखा गया था. 54 वर्षीय रंजीत सिंह का ब्रिटेन में होटल का व्यवसाय है.

जालंधर की पुलिस ने उस इनोवा कार को भी बरामद कर लेने का दावा किया है जिसमें ले जाकर रंजीत की हत्या की गई थी.

परिचित ने की हत्या

पुलिस का कहना है कि हत्या का दूसरा अभियुक्त बलदेव सिंह भी अप्रवासी भारतीय है और रंजीत का दशकों पुराना परिचित है. उसने ही रंजीत को भारत बुलाया था.

बलदेव ने अमृतसर के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर रंजीत की आगवानी की और अपने भतीजे के साथ गाड़ी में ले गया.

कई जगहों पर घुमाने के बाद सभी ने शराब पी. नशे में धुत रंजीत की गला घोंट कर हत्या कर दी गई और लाश को भाखड़ा ब्यास कैनाल में फेंक दिया.

उसके कपड़े कहीं और जाकर फेंक दिए गए. बाद में बलदेव सिंह ब्रिटेन भाग गया.

गोताखोर रंजीत सिंह के लाश की खोज में लगे हुए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार