ग़ुमशुदा बच्चों के लिए शुरू होगी वेबसाइट

खोया-पाया वेबसाइट पर ट्वीट इमेज कॉपीरइट BBC World Service

ग़ुमशुदा बच्चों का पता लगाने के लिए भारत सरकार मंगलवार को 'www.khoyapaya.gov.in' नाम की वेबसाइट शुरू करने जा रही है.

महिला व बाल विभाग और इलेक्ट्रॉनिक्स व सूचना प्रौद्योगिकी विभाग मिल कर यह वेबसाइट शुरू करने जा रहे हैं.

इस वेबसाइट पर तीन सेक्शन होंग- ‘माइ चाइल्ड इज़ मिसिंग’, ‘आई हैव साइटेड अ चाइल्ड’ और ‘सर्च अ मिसिंग चाइल्ड’.

बच्चों के लिए खास वेबसाइट

इस पर अदालत के आदेशों के लिंक होंगे और दूसरी जानकारियां होंगी.

भारत सरकार की साइट ‘माईगव’ पर बड़ी तादाद में लोगों ने इस वेबसाइट के शुरू करने पर प्रतिक्रियाएं दी हैं.

ज़्यादातर लोग सरकार के इस फ़ैसले का समर्थन कर रहे हैं, पर कुछ लोगों ने इसका विरोध भी किया है.

सहूलियत या दिक्कत?

इमेज कॉपीरइट Getty

कुछ लोगों का मानना है कि इससे जिनके बच्चे खो जाते हैं, उन अभिभावकों को इससे निश्चय ही थोड़ी सी राहत मिलेगी.

वहीं इसके विरोधियों का कहना है कि इससे बच्चों की दिक्कतें बढ़ेंगी.

कुछ लोगों ने तरह तरह के सुझाव सरकार को दिए हैं. इनमें बच्चों के लिए स्मार्ट कार्ड शुरू करने की योजना भा शामिल है.

सोशल मीडिया पर भी सरकार के इस फ़ैसले की गूंज है. बहुत लोगों ने इस मुद्दे पर ट्वीट किया है.

'अंग्रेज़ी वेबसाइट क्यों'?

इमेज कॉपीरइट UNICEF

रंजीत नायर (@Renjitweets) ने सरकार की तारीफ़ तो की है, पर उन्होने यह भी कहा है कि सरकार के इसके साथ ही पुलिस प्रणाली में सुधार करनी चाहिए.

प्रियंक (@priyank_ks) कहते हैं, “सरकार ने नाम हिंदी का रखा है और वेबसाइट अंग्रेज़ी में बनाई है. जो नाम खोज कर वेबसाइट पर जाएंगे वो अंग्रेज़ी नहीं समझेंगे और जो अंग्रेजी जानते हैं, उन्हें वेबसाइट का पता नहीं चलेगा. इससे दूर रहिए.”

अंकित गोयल (‏@ankitindia1) का कहना है कि इस मामले में पूरे विस्तार से जानकारी दी जानी चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार