नेस्ले ने मैगी को बाज़ार से हटाया

maggi इमेज कॉपीरइट Reuters

मैगी नूडल्स के सुरक्षित होने के दावे करने के बावजूद नेस्ले ने मैगी नूडल्स को बाज़ार से हटाने का फ़ैसला किया है.

नेस्ले ने एक बयान जारी कर कहा है, ''दुर्भाग्य की बात है कि हाल में हुई घटनाओं और मैगी के बारे में अनावश्यक चिंताओं की वजह से उपभोक्ताओं में एक भ्रम का वातावरण बना है. हालात यहां तक पहुंच गए हैं कि हमने इस उत्पाद के सुरक्षित होने के बावजूद इसे बाज़ार से हटाने का फ़ैसला किया है.''

हालांकि नेस्ले ने कहा है कि जैसे ही हालात स्पष्ट होंगे, मैगी की बाज़ार में वापसी होगी.

मैगी में कथित रूप से मोनोसोडियम ग्लूटामैट की मौजूदगी और निर्धारित सीमा से ज़्यादा सीसा होने की वजह से इसके सुरक्षित होने पर सवाल उठ रहे हैं.

कई राज्यों में पाबंदी

गुजरात सरकार ने मैगी की बिक्री पर एक महीने का प्रतिबंध लगाया है.

उत्तर प्रदेश सरकार ने मैगी के एक बैच को वापस लेने की कंपनी को हिदायत दी है, जबकि दिल्ली सरकार ने इस पर 15 दिनों का प्रतिबंध लगाया है.

खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने भी गुरुवार को कहा था कि मैगी मामले में जांच रिपोर्ट आने के बाद केंद्र सरकार कार्रवाई करेगी.

उत्तराखंड सरकार ने भी मैगी पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है.

इसके अलावा सेना की कैंटीन और 'बिग बाज़ार' जैसे कई रिटेल स्टोर्स ने भी मैगी को अपने स्टोर्स से हटा लिया है.

मैगी नूडल्स नेस्ले इंडिया का बड़ा ब्रांड है और पूरे उत्पादन में इसकी हिस्सेदारी लगभग 30 प्रतिशत है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार