हमारी जाँच में तोमर की डिग्री फ़र्जी: पुलिस

जितेंद्र तोमर इमेज कॉपीरइट PTI

दिल्ली के क़ानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर की गिरफ़्तारी पर दिल्ली पुलिस ने कहा है कि इसमें कोई साज़िश नहीं है.

एक संवाददाता सम्मेलन में दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता राजन भगत ने कहा कि दिल्ली बार काउंसिल की शिकायत पर उन्होंने कार्रवाई की है.

उन्होंने कहा, "शिकायत पर हमने जाँच के लिए दो टीमें बनाई थी. दोनों ही टीमों को जाँच में फ़र्जी दस्तावेज़ का पता चला."

राजन भगत ने बताया कि दो टीमों ने अवध यूनिवर्सिटी और तिलका मांझी यूनिवर्सिटी से मिली तोमर की डिग्रियों की जाँच की. जाँच अधिकारियों ने यूनिवर्सिटी जाकर संबंधित अधिकारियों से बात की और जाँच में पाया जिस रोल नंबर से जितेंद्र तोमर को डिग्री मिली थी, वो ग़लत थी.

उन्होंने बताया कि डिग्री पर हस्ताक्षर पर फ़र्जी हैं.

उन्होंने कहा कि जाँच पूरी होने के बाद मुक़दमा दर्ज किया गया और फिर उनकी गिरफ़्तारी हुई है.

एक सवाल के जवाब में राजन भगत ने बताया कि जितेंद्र तोमर की गिरफ़्तारी में क़ानून के हिसाब से सभी प्रक्रियाओं का पालन किया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार