असम में बाढ़ से तीन लाख प्रभावित

बाढ़, असम इमेज कॉपीरइट DILIP KUMAR SHARMA

असम में बाढ़ का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. राज्य के कई नए इलाकों में पानी घुसने की जानकारी मिली है वही अब तक बाढ़ में करीब तीन लाख लोग प्रभावित हो चुके हैं.

असम सरकार के मुताबिक़ अभी बाढ़ का तांडव अगले कई दिनों तक जारी रहने वाला है.

ब्रह्मपुत्र के साथ जिया-भराली और पुठीमारी नदी का पानी ख़तरे के निशान से ऊपर बह रहा है जिसको देखते हुए केंद्रीय जल आयोग ने ख़तरे की सूचना जारी की है.

समीक्षा बैठक

इमेज कॉपीरइट DILIP KUMAR SHARMA

अब तक बाढ़ की चपेट में असम के कुल 15 ज़िले आ चुके हैं. बाढ़ से 702 गांव प्रभावित हुए हैं.

असम आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार, अब तक 438 लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया है. ये छह राहत शिविरों में रह रहे हैं.

बीबीसी हिंदी को राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव पीके तिवारी ने बताया कि जिस गांव में बाढ़ का पानी घुस आता है उस गांव की कुल जनसंख्या को बाढ़ प्रभावित मान लिया जाता है.

स्थिति की गंभीरता को देखते हुए असम के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री भूमिधर बर्मन ने जल संसाधन विभाग के मंत्री बसंत दास तथा अपने वरिष्ठ विभागीय अधिकारियों के साथ बाढ़ पर एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की है.

जारी रहेगी बारिश

इमेज कॉपीरइट DILIP KUMAR SHARMA

इस बैठक के बाद बाढ़ प्रभावित इलाके में राहत और बचाव कार्य के लिए ज़िला उपायुक्तों को नया निर्देश जारी किया गया है.

मंत्री भूमिधर बर्मन ने कहा कि बाढ़ के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए उनके विभाग ने पर्याप्त भोजन और दवाइयों का भंडार जमा कर रखा है.

जल संसाधन विभाग की एक ताजा रिपोर्ट में शोणितपुर, नलबाड़ी, धुबड़ी और ग्वालपाड़ा ज़िले में कई तटबंध टूटने तथा कइयों में दरार आने की बात कही गई है.

मौसम विभाग का कहना है कि मानसून के कारण अगले कुछ दिनों तक असम, अरूणाचल प्रदेश, मेघालय और नागालैंड में बारिश जारी रहेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार