ओबामा को ज़रूरत है बाबा रामदेव की

इमेज कॉपीरइट Getty

आप सबको वो बिकिनी वाली लड़की याद है! अरे वही जो समंदर में रूमाल जैसे दो कपड़ों में पानी में अठखेलियां कर रही थी.

बस काफ़ी है. मुझे मालूम है आप सब कुछ भूलकर अपना पूरा ऐटेंशन मुझे दे चुके हैं!

अरे वही बिकनी वाली लड़की जिसने 2007 में ओबामा की पहली चुनावी मुहिम के दौरान झूम-झूमकर गाया था--"आई हैव गॉट के क्रश ऑन ओबामा". अब इसका अनुवाद मैं क्या करूं, इसका मतलब इन दिनों जो एक गाना चल रहा है न...आज फिर तुमपे प्यार आया है...उसीसे मिलता जुलता है.

तो ख़ैर मुद्दे पर आता हूं. चार साल बाद जब ओबामा दोबारा से व्हाइट हाउस की रेस में थे तो उसी मोहतरमा से फिर किसी ने पूछा कि इस बार कोई वीडियो नहीं बना रहीं? तो बड़ा ही अनमना सा जवाब देकर चल दीं जिससे ज़ाहिर हो रहा था कि उनकी नज़रों में ओबामा में पहले वाली बात नहीं रही.

ओबामा के चेहरे पर थकान

इमेज कॉपीरइट Getty

पहली पारी के हैंडसम ओबामा के चेहरे पर थकान और लकीरें तो नज़र आ ही रही थीं, बाल तेज़ी से सफ़ेद हो चले थे. लॉस ऐंजल्स टाइम्स ने एक रिसर्च के हवाले से लिखा है कि पिछले छह सालों में ओबामा के बाल 156 प्रतिशत की रफ़्तार से सफ़ेद हुए हैं.

ये व्हाइट हाउस भी अजीब जगह है. और कुछ दे या न दे सफ़ेद बाल ज़रूर दे देती है.

बिल क्लिंटन को देख लीजिए. जब आए थे तो बाल बिल्कुल सुनहरे थे, बस इक्का-दुक्का सफ़ेदी शरारती बच्चों की तरह इधर-उधर से झांक लेती थी. चार साल बाद सोना चांदी में बदल गया था यानि लगता था जैसे बालों में किसी ने सफ़ेद रंग पोत दिया था.

फिर आए जॉर्ज डब्लयू बुश और आया ग्यारह सितंबर का हमला और फिर इराक़ और सबका मिला-जुला असर--ढेर सारे सफ़ेद बाल.

और बिचारों की किस्मत ऐसी है कि हर पल कैमरे ने उनकी तस्वीरें ली हैं तो अगर ग़लती से बालों में रंग-रोगन लगाने की भी सोची तो पूरी दुनिया में हेडलाइन बन जाएगी.

पुलिस को पलट कर जवाब

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका में पुलिस पर काले और गोरे लोगों में भेदभाव करने का जो आरोप लगता रहता है उसकी तरफ़ इशारा करते हुए किसी ने यहां तक कह दिया कि ओबामा के बाल अब इतने सफ़ेद हो चुके हैं कि वो चाहें तो काला होते हुए भी अपने सफ़ेद बालों की वजह से अब पुलिस को पलट कर जवाब दे सकते हैं!

दरअसल मिशेल ओबामा से किसी ने पूछा भी कि ओबामाजी के बाल क्यों नहीं रंगवातीं हैं, बूढ़े लगने लगे हैं. तो जवाब था कि पता होता कि राष्ट्रपति बनेंगे तो दस साल पहले से रंगवाना शुरू कर देती और किसी को पता भी नहीं चलता. अब तो बहुत देर हो चुकी है!

कम से कम हिलेरी क्लिंटन को ये परेशानी नहीं होगी अगर वो राष्ट्रपति बनती हैं. वजह ये कि वो बरसों से बालों में रंग लगा रही हैं, और उनके बाल अक्सर हेडलाइंस में भी रहते हैं. रिपबलिकंस उनकी उम्र पर भी निशाना लगा रहे हैं क्योंकि वो अगर जीत जाती हैं तो 69 की होंगी वो और अमरीका की दूसरी सबसे उम्रदराज़ राष्ट्रपति होंगी.

उसके जवाब में उन्होंने कहा है, "कम से कम व्हाइट हाउस जाकर मेरे बालों के सफ़ेद होने का ख़तरा तो नहीं रहेगा." और एक बार मज़ाक में ही सही उन्होंने ये भी कहा था कि किसी बड़ी राजनीतिक मुसीबत से निकलने का सबसे अच्छा तरीका है बालों का नया स्टाइल या नया रंग क्योंकि लोग फिर उसीकी बात करने लगते हैं.

रामदेव की शागिर्दी

इमेज कॉपीरइट AFP

लेकिन ओबामाजी तो स्टाइल भी नहीं बदल सकते, नाई आंखें मूंद के भी कैंची चलाएगा तो ग़लती नहीं करेगा.

उन्हें तो बस एक काम करने की ज़रूरत है. बाबा रामदेव की शागिर्दी में चले जाएं, वैसे भी इन दिनों योग का मौसम चल रहा है. क्योंकि बाबाजी के पास बालों को काला करने का शर्तिया इलाज़ है.

उनके शब्दों में "बालों की समस्या के लिए बस नाखूनों को आपस में रगडें, पांच मिनट सुबह-शाम, बाल काले रहेंगे, झड़ेंगें भी नहीं."

अगर ओबामा ये नुस्खा अपना लें तो डेढ़ साल के बाद जब व्हाइट हाउस छोड़ेंगे तो वापस अपने पुराने फॉर्म में समंदर वाला गाना सुनते हुए निकलेंगे. कुछ नहीं किया तो फिर नैय्यरा नूर को गुनगुना सकते हैं---कभी हम ख़ूबसूरत थे...!!

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार