विवादों की क्रीज़ पर ललित मोदी

ललित मोदी इमेज कॉपीरइट AP

लंदन में निर्वासित जीवन जी रहे इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी का नाम एक बार फिर सुर्खियों में है.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर आरोप लगा है कि उन्होंने ललित मोदी को ब्रिटेन में ट्रैवल डॉक्यूमेंट दिलाने में मदद की थी.

मोदी पर आईपीएल में वित्तीय अनियमतताओं के आरोप हैं जिनका वह हमेशा खंडन करते रहे हैं.

49 साल के ललित मोदी अपनी कार्यशैली, फ़ैसलों और गतिविधियों की वजह से हमेशा विवादों में रहे हैं.

राजस्थान क्रिकेट संघ के अध्यक्ष

राजस्थान के ललित मोदी का नाम वर्ष 2005 में उस समय सुर्खियों में आया जब भाजपा के राजस्थान में सत्ता में आने के बाद वह अचानक राजस्थान क्रिकेट संघ (आरसीए) के अध्यक्ष बने.

इमेज कॉपीरइट PTI

इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा. उसी साल वह भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सबसे कम उम्र के उपाध्यक्ष बने.

आईपीएल की शुरुआत

लेकिन 2008 में उन्होंने आईपीएल शुरू करके देश में क्रिकेट की तस्वीर ही बदल दी. वह इस लीग के पहले कमिश्नर बने.

दुनिया की सबसे अमीर क्रिकेट लीग, आईपीएल, में खेलने के लिए दुनिया भर के क्रिकेटर लालायित रहते हैं.

वाटरलू

इमेज कॉपीरइट Reuters

लेकिन अप्रैल 2010 में मोदी के लिए ट्विटर पर नई बनी कोच्चि टस्कर्स केरला टीम के मालिकों की घोषणा करना बुरा साबित हुआ.

टीम के मालिकों ने इसे विश्वासघात बताया और बीसीसीआई ने भी इस पर नाख़ुशी जताई.

इस विवाद में तत्कालीन विदेश राज्य मंत्री शशि थरूर का भी नाम आया और उन्हें पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा.

भ्रष्टाचार के कई खुलासे

उसी साल अप्रैल-मई में आईपीएल में एक के बाद एक कथित भ्रष्टाचार के कई खुलासे हुए. इनमें आईपीएल के प्रसारण अधिकार देने को लेकर उठा विवाद भी था.

मोदी पर वित्तीय अनियमितताओं के आरोप लगे और वह देश छोड़कर चले गए.

आजीवन प्रतिबंध

2013 में बीसीसीआई ने उन पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया.

2014 में ललित मोदी को आरसीए का अध्यक्ष चुना गया जिसके तुरंत बाद बीसीसीआई ने आरसीए को निलंबित कर दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार