बीएसएनएल की फ़्री रोमिंग की 6 ख़ास बातें

भारत में मोबाइल इमेज कॉपीरइट AFP

भारत में सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल की मुफ़्त रोमिंग सेवा सोमवार से शुरू हो रही है.

इससे देशभर में सात करोड़ से अधिक ग्राहकों को फ़ायदा होगा.

ग्राहकों के लिए क्या ख़ास है इस योजना में:

1-इससे देशभर में कंपनी के ग्राहकों को इनकमिंग कॉल पर शुल्क नहीं देना होगा.

2-बीएसएनएल देश की पहली मोबाइल सेवा कंपनी है जो निशुल्क रोमिंग सेवा शुरू कर रही है.

3-इस साल मार्च के अंत तक देश में बीएसएनएल के मोबाइल ग्राहकों की संख्या 7.72 करोड़ थी.

इमेज कॉपीरइट Ravi Shankar Prasad Twitter

4-बीएसएनएल दिल्ली और मुंबई को छोड़कर पूरे देश में अपनी सेवाएं देती है.

5-अब बीएसएनएल के ग्राहकों को रोमिंग के दौरान पैसा बचाने के लिए अलग-अलग हैंडसेट व सिम रखने की जरूरत नहीं होगी.

6-बीएसएनएल अपनी सेवाओं को बेहतर करने के लिए 5000 अतिरिक्त टावर भी लगाएगी.

हालांकि बीएसएनएल की मुफ्त रोमिंग सेवा पर दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने यह कहकर सवाल उठाए थे कि उसने किसकी अनुमति से यह सेवा शुरू की है.

इमेज कॉपीरइट AFP

इस पर बीएसएनएल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक अनुपम श्रीवास्तव का कहना है कि दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद के निर्देश पर यह सेवा शुरू की गई है.

ट्राई को इस पर कोई आपत्ति नहीं है. रविशंकर प्रसाद ने गत 2 जून को घोषणा की थी कि बीएसएनएल 15 जून से मुफ्त रोमिंग की सुविधा पेश करेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार