दिल्ली : जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल ख़त्म

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का ट्विट इमेज कॉपीरइट TWITTER PAGE SATYENDRA JAIN

अपनी 19 सूत्रीय मांगों को लेकर सोमवार से हड़ताल पर गए दिल्ली के जूनियर डॉक्टरों ने मंगलवार देर रात हड़ताल वापस ले ली.

दिल्ली के स्वाथ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने इसकी जानकारी ट्विटर के जरिए दी.

हड़ताल पर गए जूनियर डॉक्टरों के प्रवक्ता डॉक्टर अंशुमन ने बीबीसी संवाददाता वंदना से कहा, '' केंद्र और दिल्ली सरकार ने हमारी मांगें मान ली हैं.''

डॉक्टर अंशुमन ने कहा, ''हम अस्पतालों में मरीजों को मिलने वाली दवाओं और सुविधाओं की कमी को लेकर हड़ताल पर गए थे. हम चाहते थे कि सरकार हमें तारीख देकर बताए कि वो कब तक हमारी मांगों को पूरा करेगी. सरकार ने कहा है कि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में 15 अगस्त तक सभी सुविधाएं उपलब्ध करा दी जाएंगी.''

उन्होंने कहा, '' हमने सरकार से अस्पतालों में अधिक से अधिक ऑपरेशन थियेटर की मांग की थी, जिससे मरीजों को आपरेशन के लिए लंबा इंतजार न करना पड़े. हमारी इस पर सरकार ने कहा है कि एक महीने में ऑपरेशन थियेटर का सर्वेक्षण कर उनकी कमियों का पता लगाया जाएगा. और तीन महीनों में काम न कर रहे ऑपरेशन थियेटर का चालू कर दिया जाएगा.''

हड़ताल और इलाज

इमेज कॉपीरइट Press Association

हड़ताल की वजह से आम लोगों को हुई परेशानी के सवाल पर डॉक्टर अंशुमन ने कहा कि एक बात समझ से परे है कि अस्पताल बंद क्यों थे, क्योंकि हड़ताल पर जूनियर डॉक्टर गए थे.

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक दिल्ली में पांच हजार से ज्यादा वरिष्ठ चिकित्सक हैं, जिनमें विशेषज्ञ चिकित्सक, मेडिकल आफिसर, सीनियर रेजिडेंट और जूनियर रेजिडेंट जैसे डॉक्टरशामिल हैं, जो हड़ताल पर नहीं थे. ये लोग अस्पतालों को चला सकते थे.

उन्होंने कहा कि अस्पतालों के गेटों पर सुरक्षाकर्मियों को मरीजों से यह कहने को क्यों कहा गया था कि अस्पताल में हड़ताल है और इलाज नहीं होगा.

एसमा

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption दिल्ली सरकार ने मंगलवार दोपहर से आवश्यक सेवा अनुरक्षण कानून (एस्मा) लगा दिया था.

इससे पहले दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बीबीसी संवाददाता सुशीला सिंह को बताया था कि सरकार ने हड़ताली डॉक्टरों सभी मांगें मान ली हैं.

जैन ने बताया था कि जूनियर डॉक्टर सुरक्षा, हास्टल, फीस, अस्पतालों में दवाओं और बेड की कमी, डॉक्टर ड्यूटी रूम को सुधारने जैसे मुद्दों पर हड़ताल पर हैं.

उन्होंने बताया कि सुरक्षा के मसले पर वो उपराज्यपाल से मिले थे. उपराज्यपाल ने इमरजेंसी में पुलिस सुरक्षा के लिए दिल्ली पुलिस को आदेश दिए हैं.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हड़ताली डॉक्टरों से काम पर वापस लौटने की अपील करते हुए कहा था.

हड़ताल खत्म न होने पर दिल्ली सरकार ने मंगलवार दोपहर से आवश्यक सेवा अनुरक्षण कानून (एस्मा) लगा दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं. )

संबंधित समाचार