बकिंघम पैलेस से 'हट सकती हैं महारानी'

क्वीन एलिजाबेथ

ब्रिटेन की महारानी बकिंघम पैलेस को छोड़ सकती हैं ताकि वहां मरम्मत का काम हो सके.

इस महल की मरम्मत पर 15 करोड़ पाउंड की लागत आने का अनुमान है.

शाही परिवार महल की मरम्मत के इस विकल्प पर अभी विचार कर रहा है.

महल में पानी की व्यवस्था और बिजली की वायरिंग नए सिरे से कराने की जरूरत है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

महल के कुछ कमरे तो ऐसे हैं जिनमें 1952 में महारानी की ताजपोशी के बाद से कोई नया काम नहीं हुआ है.

शाही परिवार का ख़र्च

मरम्मत की यह योजना ऐसे समय में सामने आई है जब शाही संपत्ति से होने वाले 28.5 करोड़ पाउंड के मुनाफ़े को पिछले साल करदाताओं को वापस किया गया.

उम्मीद है कि महारानी को मिलने वाली सरकारी राशि में अगले साल 20 लाख पाउंड की वृद्धि होगी जिसके बाद वो बढ़कर 4.28 करोड़ पाउंड हो सकती है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption महारानी बकिंघम पैलेस में इसी हफ़्ते फुटबॉलर डेविड बैकहम समेत कई मेहमानों से मिलीं
इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption महले के बेसमेंट से एस्बेस्टस को हटाने का काम पिछले साल पूरा हुआ

इस बीच स्कॉटलैंड के फर्स्ट मिनिस्टर ने इन ख़बरों को सख़्ती से ख़ारिज किया है कि स्कॉटिश संसद राजशाही के लिए योगदान में 10 से 15 लाख पाउंड तक की कटौती कर सकती है.

शाही संपत्ति से होने वाले लाभ का 15 प्रतिशत हिस्सा ब्रितानी सरकार शाही परिवार को देती है.

आंकड़े बताते हैं कि पिछले साल महारानी को अनुदान से 3.79 करोड़ पाउंड मिले, जिसमें से उन्होंने 3.57 करोड़ पाउंड ख़र्च किए.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption महल में कई जगह दरारें देखी जा सकती हैं

इस साल ये राशि बढ़ कर 4 करोड़ पाउंड और अगले 4.28 करोड़ पाउंड हो सकती है.

इस राशि में शाही परिवार को सुरक्षा मुहैया कराने का ख़र्च शामिल नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं. )

संबंधित समाचार