परतों में जीवन को तराशता कलाकार

मनीष पुष्कले इमेज कॉपीरइट Other
Image caption स्टूडियो में पेटिंग करते मनीष पुष्कले.

मनीष पुष्कले अमूर्तन चित्रकार हैं. 1973 में भोपाल में जन्मे मनीष बचपन में नहीं जानते थे कि आगे चलकर वो चित्रकार बनेंगे.

वीडियो देखने के लिए क्लिक करें

भू-विज्ञान में स्नातकोत्तर मनीष का खिंचाव हमेशा कला की ओर रहा और भारत भवन ने इसे निखारने में अहम भूमिका निभाई.

इमेज कॉपीरइट Other

मनीष स्कूल से भागकर भारत भवन की कला दीर्घा में लगे चित्र देखने जाया करते थे. वहां उनका परिचय स्वामीनाथन, गायतोंडे, एस एच रज़ा, अर्पिता सिंह, विवान सुंदरम आदि के चित्रों से हुआ.

(रंगों के जादूगर मनीष पुष्कले)

इमेज कॉपीरइट Other

हर कलाकार की अपनी शैली होती है, जिसे वह अपनी भाषा में समझने की कोशिश करते रहते थे.

इमेज कॉपीरइट Other

तभी मंजीत बावा की सलाह पर वह आर्ट रेस्टोरेशन का कोर्स करने दिल्ली आ गए.

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption चित्रकला की शुरुआत दरअसल बचपन के खेल से ही होती है, स्टूडियो में मनीष के बच्चे आदी और आद्या.

भोपाल में रहते हुए उन्होंने रंगों और रेखाओं के माध्यम से अपनी पहचान खोजने की शुरुआत कर दी थी.

मनीष पुष्कले की चित्रकला के बारे में देखने के लिए यहां क्लिक करें.

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption कलाकार के स्टूडियो की हर वस्तु उसकी कला का हिस्सा होती है, स्टूडियो में रखी टेबल, कलर पैलेट भी बन जाती है.

किसी कला विद्यालय में प्रशिक्षित न होने की वजह से उन्हें कुछ समस्याओं का सामना तो करना पड़ा, लेकिन इससे उनके सीखने की चाहत और प्रबल ही हुई.

इमेज कॉपीरइट Other

कलाकार के स्टूडियो की हर वस्तु उसकी कला का हिस्सा होती है, स्टूडियो में रखी टेबल, कलर पैलेट भी बन जाती है.

इमेज कॉपीरइट Other

मनीष के चित्रों में कई परतें हैं, चित्र देखकर आभास होता है कि जैसे एक परत दूसरी परत को खोल रही है.

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption गुरु जो अब तक की यात्रा में पथ प्रदर्शक रहे.

देश-विदेश में कई एकल व समूह प्रदर्शनियों, आर्ट कैंपों, कई मशहूर किताबों के कवर डिज़ाइन और एक किताब 'सफ़ेद साखी' लिखने के बाद मनीष की यह कला यात्रा जारी है.

इमेज कॉपीरइट Other

उन्हें आइफैक्स अवार्ड, संस्कृति मंत्रालय से जूनियर रिसर्च फेलोशिप, कला कौस्तुभ सम्मान, स्पंदन चित्रकला सम्मान मिला है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार