'भ्रामक' फ़ेसबुक पोस्ट पर व्यापारी गिरफ़्तार

पुलिस इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

कर्नाटक में पुलिस ने फेसबुक पर कथित भ्रामक पोस्ट डालने पर एक व्यापारी को मैसूर से गिरफ़्तार गिया है.

रिपोर्टों के मुताबिक 32 वर्षीय दीपक कुलकर्णी ने 29 जून को फ़ेसबुक पर एक मॉल के अंदर एक लड़की की हत्या की सीसीटीवी फुटेज फ़ेसबुक पोस्ट की थी.

इस पोस्ट को उन्होंने बैंगलुरु के एक मॉल की घटना बताया था.

इस पोस्ट के बाद स्थानीय पुलिस मॉल पहुँची और जांच की तो पाया कि वहाँ ऐसी किसी घटना की जानकारी नहीं मिली.

बाद में पता चला कि यह श्रीलंका के एक मॉल की घटना का वीडियो था जिसे बैंगलुरु का बताकर पोस्ट कर दिया गया था.

आपराधिक मामल दर्ज

इमेज कॉपीरइट AFP

बैंगलुरु पुलिस ने कथित फ़ेसबुक पोस्ट के कारण ही व्यापारी की गिरफ़्तारी की पुष्टि की है. बाद में उन्हें ज़मानत पर रिहा कर दिया गया.

स्थानीय पत्रकार इमरान क़ुरैशी के अनुसार पुलिस ने शुक्रवार को दीपक कुलकर्णी को मैसूर में उनके घर से गिरफ़्तार किया. उनके ख़िलाफ़ आपराधिक मानहानि का मामला दर्ज किया गया है.

बेंगलुरु के डीसीपी (सेंट्रल) संदीप पाटिल ने इमरान कुरैशी को बताया, "हमें गरुणा मॉल से शिकायत मिली थी कि उनका नाम बदनाम किया जा रहा है."

उन्होंने कहा, "आजकल फ़ेसबुक और व्हाट्सएप जैसे कई संचार माध्यम हैं जहां संदेश शेयर किए जाते हैं. कुछ संदेश भावनाएं भी आहत कर सकते हैं. लोगों को कोई भी मैसेज पोस्ट करने से पहले सावधान रहना चाहिए."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)