मोदी के 'सुपर कमिटमेंट' पर चुटकियाँ

मोदी इमेज कॉपीरइट Other

प्रधानमंत्री के दफ्तर के ट्विटर हैंडल पर मंगलवार को मोदी सरकार ने देश से एक और कमिटमेंट किया.

प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक ट्वीट में कहा - 'प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि सुपर कंप्यूटर सुपर कंप्यूटिंग करेंगे और सुपर कमिटमेंट की वजह बनेंगे.'

इस पर सोशल मीडिया पर बहस छिड़ी हुई है. कुछ लोगों का कहना है कि भारत में कंप्यूटर कांग्रेस नेता राजीव गांधी की देन है और बीजेपी इसका श्रेय लेना चाहती है.

कई लोगों को ट्वीट समझ नहीं आया और कुछ लोगों न इस कमिटमेंट पर चुटकी ली.

आप भी पढ़िए सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई कुछ प्रतिक्रिया.

इमेज कॉपीरइट

विवेक सिंह का कहना है कि 'सुपर कंप्यूटर के सामने बैठे और सुपर होस्ट के मेहमान बने सुपर देश के सुपर प्रधानमंत्री ने क्या सुपर ट्वीट किया है.'

सूर्यनारायण गणेश लिखते हैं कि 'उम्मीद है मोदी नहीं कहेंगे कि क्लाउड क्लाउड कंप्यूटिंग करते हैं, और टाटा नैनो नैनो कंप्यूटिंग करता है.'

मोनिस का कहना है कि 'मुझे नहीं पता कि 10 कोर वाले कंप्यूटर को सुपर कंप्यूटर कहा भी जा सकता है या नहीं.'

इमेज कॉपीरइट AP

संजीत द्विवेदी का सवाल है कि 'गांव-देहात में रहने वाले उन लोगों का क्या होगा जो पढ़ ही नहीं पाए हैं. कौन ठीक करेगा भारत में प्राथमिक शिक्षा की व्यवस्था?'

निलेश 'नूर' कहते हैं कि प्रधानमंत्री के ऑफ़िस ने 'और एक बार कमिटमेंट कर दी तो फिर.... '

लक्षित पटेल चुटकी लेते हुए कहते हैं, 'अपने पास देश है, लोग हैं और ज़रुरत भी है. यहां तक कि सुपर कंप्यूटर भी है, सिर्फ प्रधानमंत्री नहीं हैं.' केतन का सीधा सवाल है, 'क्या ये सेल्फ़ी लेगा.'

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

कई लोगों को तो ट्वीट ही समझ नहीं आया.

दिलीप लोहिया, अभिमन्यु वर्मा और अक्षय सिंह को ट्वीट समझ ही नहीं आया.

मोहित जैन लिखते हैं 'मन तो कर रहा है की इसका पोस्टर बना के कमरे में चिपका दू! बस डर है कोई मतलब न पूछ ले...'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार