व्यापमं घोटाले की जाँच सीबीआई करे: सुप्रीम कोर्ट

मध्य प्रदेश व्यापम इमेज कॉपीरइट vipul gupta

भारत के सुप्रीम कोर्ट ने मध्य प्रदेश के व्यावसायिक परीक्षा मंडल(व्यापमं) में हुए कथित घोटाले और इससे जुड़े विभिन्न लोगों की मौतों की जाँच सीबीआई को सौंप दी है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार अदालत में सरकारी वकील एटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने भी पूरे मामले की सीबीआई जाँच का समर्थन किया.

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में व्यापमं से जुड़े सभी मामलों की सीबीआई से जाँच करवाने के लिए याचिका दायर की थी.

मध्य प्रदेश के राज्यपाल राम नरेश यादव से जुड़ी एक याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार, राज्य सरकार और राज्यपाल को नोटिस भेजा है.

फ़ैसले के बाद दिग्विजय सिंह ने अदालत का आभार जताते हुए कहा, "शिवराज सिंह चौहान अगर दो साल पहले ये फ़ैसला लेते तो उन्हें ये दिन नहीं देखना पड़ता."

मामले की अगली सुनवाई 24 जुलाई को होगी.

मुख्यमंत्री पर सवाल

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

व्यापमं की परीक्षाओं में हुई कथित धांधलियों में राज्य के राज्यपाल से लेकर मुख्यमंत्री तक आरोपों के घेरे में आते रहे हैं.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उनपर लगे आरोपों से इनकार करते हैं.

इसस पहले मामले की जाँच कर रही एसटीएफ़ ने स्थानीय अदालत को बताया था कि इस मामले से जुड़े 30 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

वहीं, विपक्ष का दावा है कि मरने वालों की संख्या इससे कहीं ज़्यादा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)