आटा चक्की के चपेट में आए चार बच्चों की मौत

फाइल फोटो इमेज कॉपीरइट AP

बिहार के मुंगेर ज़िले में एक मोबाइल आटा चक्की के चपेट में आने से चार बच्चे मारे गए हैं.

ज़िले की कुतलुपुर पंचायत के कचहरी रविदास टोले में हुए इस हादसे में दो बच्चों समेत तीन लोग घायल भी हैं.

घटना सोमवार दोपहर की है. सभी घायलों का इलाज पड़ोसी ज़िला मुख्यालय बेगूसराय में चल रहा है.

घायलों में से एक व्यस्क की हालत गंभीर है.

प्रशासन देगा मुआवज़ा

इस हादसे के बारे में मुंगेर के ज़िलाधिकारी अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया, ‘‘दियारा इलाके में स्थानीय स्तर पर बनी आटा चक्की का प्रयोग होता है."

उनके मुताबिक़, "ऐसी ही एक आटा चक्की के कल-पुर्जे खुलने से उसके आस-पास खड़े बच्चे पिसाई करने वाले पत्थर के चपेट में आ गए, जिससे चार बच्चों की मौत हो गई.’’

ज़िलाधिकारी के अनुसार सभी मृतकों के परिजनों को मुख्यमंत्री पारिवारिक लाभ योजना और कबीर अंत्येष्टि योजना के तहत सहायता राशि दी गई है.

घायलों का इलाज भी प्रशासनिक स्तर पर कराया जा रहा है.

साथ ही घटना को अप्राकृतिक आपदा घोषित कर भी मृतकों के परिजनों का चार-चार लाख रुपए की राशि बतौर मुआवज़ा दी जाएगी.

‘पंजाबी आटा चक्की’

जानकारी के मुताबिक ऐसी आटा चक्कियां ट्रैक्टर की ट्राली में लगी होती हैं जिससे गांवों में घूम-घूम कर अनाज की पिसाई की जाती है.

इन्हें ‘पंजाबी आटा चक्की’ कहा जाता है.

ज़िलाधिकारी के मुताबिक मामले में एफआईआर दर्ज करने के साथ-साथ घटना की जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं.

साथ ही ऐसे अवैध मशीनों के इस्तेमाल पर भी रोक लगा दी गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)