'दामादों के कारण क्या-क्या बातें होती हैं'

नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट EPA

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू में एक कार्यक्रम में कहा कि राजनीति में दामादों के लिए सुनना पड़ता है.

नरेंद्र मोदी स्वतंत्रता सेनानी और जम्मू-कश्मीर के दिवंगत कांग्रेसी नेता गिरधारीलाल डोगरा की जन्मशताब्दी के अवसर पर जम्मू विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.

गिरधारीलाल डोगरा केंद्र सरकार में मौजूदा वित्त मंत्री अरुण जेटली के ससुर थे. जम्मू कश्मीर में कांग्रेस के बड़े नेताओं में शुमार रहे डोगरा ने राज्य के वित्त मंत्री के नाते रिकॉर्ड 26 बार बजट पेश किया था.

पेशे से वकील डोगरा का जन्म कठुआ ज़िले के एक गांव में हुआ था. उनका निधन 27 नवंबर 1987 में हुआ था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

कार्यक्रम में केंद्रीय वित्‍त मंत्री अरुण जेटली भी मौजूद थे. पढ़िए मोदी के भाषण की 5 प्रमुख बातें -

  1. आजकल तो हम जानते हैं कि दामादों की वजह से क्या-क्या बातें होती हैं.
  2. गिरधारीलाल डोगरा को लोगों की बहुत अच्छी पहचान होगी जिसका उदाहरण उनके दामाद वित्त मंत्री अरुण जेटली हैं.
  3. अरुण जेटली की राजनीतिक विचारधारा और उनकी विचारधारा का कोई मेल नहीं था. फिर भी डोगरा जी ने उनको चुना लेकिन न ही कभी उन्होंने या कभी अरुण जी ने उनका फायदा उठाया.
  4. हमें अपनी विरासत को बंटने नहीं देना चाहिए.
  5. हमारे लिए सभी महापुरुष हैं, उनकी विचारधाराएं अलग हो सकती हैं लेकिन वो सभी देश के लिए जिए थे. हमें उनके बीच दीवार नहीं खड़ी करनी चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार