मध्य प्रदेश: बारिश से 5 लोगों की मौत

उज्जैन, बारिश इमेज कॉपीरइट s.niazi

मध्यप्रदेश के मालवा क्षेत्र में लगातार बारिश की वजह से पांच लोगों की मौत हो गई है. सबसे ज्यादा ख़राब हालात उज्जैन में है जहां बारिश ने पूरे शहर को अस्त व्यस्त कर दिया है.

उज्जैन में शिप्रा नदी उफान पर है. कई मंदिर पूरी तरह से डूब गये है और लगभग आधे शहर में दो-दो फीट तक पानी भरा हुआ है.

टीकमगढ़ ज़िले के किशोरपुरा गांव में एक ही परिवार के तीन लोगों की बिजली गिरने से मौत हो गई है.

इमेज कॉपीरइट s. niazi

बुरहानपुर में 33 साल के एक व्यक्ति की लाश को डावल नदी से निकला गया जहां तेज़ पानी में वो बह गये थे.

देवास ज़िले के चामुंडा माता में लगातार हो रही बारिश की वजह से दीवार गिरने से एक महिला की मौत हो गई है.

रेल यातायात प्रभावित

इमेज कॉपीरइट s. niazi

उज्जैन शहर में सड़कों के साथ ही रेल की पटरियां भी पानी में डूब गई है.

जिसकी वजह से इंदौर, भोपाल और रतलाम रेल लाइन की गाड़ियां प्रभावित हुई है.

ज़िला प्रशासन ने स्कूलों और कालेज में छुट्टी घोषित कर दी है.

उज्जैन के साथ ही इंदौर, सीहोर, होशंगाबाद और शाजापुर में भी भारी बारिश हुई है.

और होगी बारिश

मौसम विभाग ने आशंका जताई है कि इस तरह की बारिश मंगलवार तक जारी रह सकती है.

प्रदेश में अब तक न के बराबर बारिश हुई थी.

इमेज कॉपीरइट s. niazi

हालांकि दो दिनों के अंदर स्थिति उलट गई है.

उज्जैन के कलेक्टर कविंद्र कवायत ने बताया, “अभी तक लगभग 350 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है. इससे जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है. निचले क्षेत्र पूरी तरह से डूब गए हैं. नगर निगम, जिला प्रशासन और पुलिस सभी मिल कर समस्या से निपटने का प्रयास कर रहे हैं. वही कई क्षेत्रों में बिजली चली गई है जिसे फिर से चालू करने का प्रयास किया जा रहा है. “

उन्होंने ये भी बताया कि राहत शिविर भी बनाये गये है जहां प्रभावित लोगों को रखा गया है और उन्हें खाना और जरुरत की दूसरी चीज़ें मुहैया कराई जा रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार