ललित मोदी मामले पर राज्यसभा में हंगामा

इमेज कॉपीरइट PTI

मंगलवार को भारतीय संसद का मॉनसून सत्र उसी अंदाज़ से शुरू हुआ जिसकी उम्मीद थी और ललित मोदी की कथित मदद का मुद्दा हावी रहा.

राज्य सभा में कांग्रेस के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा ने भाजपा सरकार पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया के बचाव का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा, "ललित मोदी जांच में सहयोग न करने के पक्ष में रहे हैं हालांकि उनके ऊपर गंभीर आरोप लगे हैं. लेकिन अफ़सोस की बात है कि दुनिया भर में खुले आम घूम रहे ललित मोदी की मदद करने वाले भाजपा के दो बड़े नेता निकले".

आनंद शर्मा ने सरकार पर मर्यादाओं को तोड़ने का और भ्रष्टाचार बढ़ाने का आरोप लगाया.

'सुषमा देंगी बयान'

इमेज कॉपीरइट AFP

इसके तुरंत बाद वित्त मंत्री और सदन के नेता अरुण जेटली ने शोर के बीच बयान दिया, "आनंद शर्मा का कहना है कि मामले पर चर्चा होनी चाहिए. सरकार इस बात के लिए पूरी तरह से तैयार है".

अरुण जेटली ने कहा कि खुद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज आकर सदन में बयान देंगी.

लेकिन हंगामा बढ़ता गया और अध्यक्ष ने अपनी नाराज़गी जताते हुए सदन को दोपहर तक के लिए स्थगित कर दिया.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)