जमशेदपुरः छेड़खानी के बाद हिंसा, कर्फ्यू

इमेज कॉपीरइट RAVI PRAKASH

झारखंड के जमशेदपुर में छेड़खानी को लेकर हिंदू और मुस्लिम समुदायों के बीच हुए तनाव और हिंसा के बाद शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया है.

हालात पर नियंत्रण पाने के लिए पटना से रैपिड एक्शन फ़ोर्स (आरएएफ़) की टुकड़ी को बुलाया गया है.

आरएएफ़, झारखंड आर्म्ड पुलिस (जेएपी) और पुलिस के जवानों ने शहर में फ़्लैग मार्च किया है.

प्रशासन के मुताबिक़ शहर के चार थानाक्षेत्रों को छोड़कर बाकी के हिस्से में बुधवार दोपहर एक बजे से शाम पांच बजे तक कर्फ्यू में छूट दी जाएगी.

स्कूल बंद

इमेज कॉपीरइट RAVI PRAKASH

प्रशासन ने स्कूलों को बंद कर परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं.

पश्चिमी सिंहभूम के उपायुक्त डॉक्टर अमिताभ कौशल ने बताया कि हालात बिगड़ने के बाद उन्हें कर्फ्यू लगाने का फैसला लेना पड़ा.

हिंसा की घटनाओं को शुरूआत सोमवार की रात हुई छेड़खानी की एक घटना के बाद हुई थी.

छेड़खानी की घटना के बाद विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने बंद का आयोजन किया था. इस दौरान बड़े पैमाने पर तोड़फोड़, आगजनी और पथराव की घटना हुई. उपद्रववी तत्वों ने कई दुकानों, दोपहिया और चारपहिया गाड़ियों में आग लगा दी.

इन घटनाओं को देखते हुए प्रशासन ने मंगलवार रात नौ बजे से पूरे शहरी इलाक़ों में कर्फ्यू लगा दिया.

अबतक 100 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है. हालांकि कोई गिरफ्तारी अभी नहीं हुई.

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने घटना की जांच के लिए दो सदस्यीय समिति का गठन किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार