राष्ट्रीय खिलाड़ी की 'ट्रेन से फेंकने' से मौत

भारतीय रेल

तलवारबाज़ी के राष्ट्रीय खिलाड़ी होशियार सिंह के परिवार ने आरोप लगाया है कि पुलिसकर्मियों ने उन्हें चलती ट्रेन से फेंक दिया जिससे उनकी मौत हो गई.

जीआरपी थाना कासगंज में दो पुलिसकर्मियों और रेलवे के एक अधिकारी के ख़िलाफ़ ग़ैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया गया है.

हादसा आगरा के पास के कासगंज में गुरुवार को हुआ.

हालांकि आगरा रेलवे क्षेत्र के पुलिस अधीक्षक गोपेश नाथ खन्ना ने परिजनों के आरोपों का खंडन किया है.

'मौत ट्रेन से गिरने से'

खन्ना ने स्थानीय पत्रकार विवेक जैन को बताया, "होशियार सिंह सिकंदरा राव स्टेशन पर पानी लेने उतरे थे इसी बीच ट्रेन चल पड़ी. चलती ट्रेन में चढ़ने की कोशिश में वे फ़िसल कर गिर पड़े और उनकी मौत हो गई."

उन्होंने बताया, "जीआरपी के सिपाही उस वक़्त तीन बोगी आगे थे. वे शव निकालने पहुँचे थे. भीड़ ने शव देखकर हंगामा कर दिया और जीआरपी पर हत्या के आरोप लगा दिए."

पुलिस अधीक्षक का कहना है कि शुरुआती जाँच में ट्रेन से फ़ेंके जाने के आरोप ग़लत पाए गए हैं.

उन्होंने जीआरपी के सिपाहियों के ख़िलाफ़ ग़ैर इरादतन हत्या के मामला दर्ज किए जाने की पुष्टि की है.

होशियार सिंह अपनी पत्नी के साथ सफर कर रहे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)