याक़ूब पर ट्वीट के लिए सलमान ने माफ़ी माँगी

इमेज कॉपीरइट EPA

मुंबई धमाकों के दोषी याक़ूब मेमन की फ़ांसी का विरोध करने के मुद्दे पर दिए अपने ट्वीट को सलमान खान ने वापस ले लिया है.

कुछ देर पहले ट्विटर पर उन्होंने लिखा, "मेरे पिता ने फ़ोन किया और कहा मैं अपने ट्वीट वापस लूँ क्योंकि इनसे गलतफ़हमी पैदा होने का ख़तरा है. इसिलए मैं अपनी बात वापस लेता हूँ."

उन्होंने लिखा, "मैंने कहीं भी ये नहीं कहा कि याक़ूब मेमन निर्दोष है. मुझे अपने देश की न्यायिक व्यवस्था पर पूरा भरोसा है. मुंबई धमाकों में कई लोग मारे गए थे. मैने कई बार ये कहा है कि एक भी निर्दोष व्यक्ति की मौत का मतलब है पूरी इंसानियत का क़त्ल. अनजाने में पैदा हुई ग़लतफ़हमी के लिए मैं बिना शर्त माफ़ी माँगता हूँ. मैं उन लोगों की भी कड़ी निंदा करता हूँ जो ये दावा कर रहे हैं कि मेरे ट्वीट धर्म के खिलाफ़ हैं. मैने हमेशा कहा है कि मैं सब धर्मों का सम्मान करता हूँ और करता रहूँगा."

इससे पहले सलमान ने ट्विटर पर लिखा था कि याक़ूब मेमन को फाँसी नहीं होनी चाहिए.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

शनिवार की रात सलमान ने एक के बाद एक 51 मिनट में 14 ट्वीट किए थे. उन्होंने ट्वीट कर कहा था, "एक बेग़ुनाह की फ़ांसी समूची इंसानियत का क़त्ल है."

सलमान के पिता, केस के सरकारी वकील और दूसरे कई लोगों ने उनकी आलोचना की है और उन्हें ग़लत ठहराया है.

याक़ूब मेमन को 2007 में विशेष अदालत ने फ़ांसी की सज़ा सुनाई थी. हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट ने इस फ़ैसले को बरक़रार रखा था.

मुंबई में 1993 में सिलसिलेवार धमाकों में 250 से ज़्यादा लोग मारे गए थे.

टाइगर के भाई को फांसी न दो: सलमान

'सलमान के ट्वीट्स अर्थहीन'

सलमान के पिता सलीम ख़ान ने अपने बेटे के ट्वीट पर मीडिया से कहा था,"जिस व्यक्ति को किसी मसले की जानकारी ही ना हो, उसके विचार का कोई महत्व नहीं होता."

सलीम ख़ान ने आगे कहा कि सलमान एक कलाकार हैं, इसलिए उन्हें अधिक कुछ नहीं पता. उन्होंने कहा, "सलमान ने जो कुछ ट्वीट किया है वह अर्थहीन है. मैं इसे सपोर्ट नहीं करता."

इमेज कॉपीरइट Other

एक टीवी चैनल पर सरकारी वकील उज्ज्वल निकम ने भी कहा था कि सलमान खान को अपने ट्वीट्स वापस लेने चाहिए, वर्ना वे उन पर क़ानूनी कार्रवाई करने पर विचार करेंगे.

निकम ने कहा था कि याक़ूब मेमन को निर्दोष बताना ग़लत है और सलमान अपनी लोकप्रियता का ग़लत फ़ायदा उठा रहे हैं.

वहीं शिवसेना प्रमुख उद्दव ठाकरे का कहना था, "किसी को भी ऐसी बातों पर ध्यान नहीं देना चाहिए. इसे अनदेखा किया जाना चाहिए."

इमेज कॉपीरइट spice

भारतीय जनता पार्टी ने नाम लिए बग़ैर ही सलमान खान की आलोचना की थी. पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्र ने टेलीविज़न चैनल ‘एबीपी न्यूज़’ पर कहा कि जो लोग याकूब के फांसी का विरोध कर रहे हैं, वे चरमपंथ का परोक्ष समर्थन कर रहे हैं. उन्हें चरमपंथियों के लिए किसी तरह की सहानुभूति का वातावरण नहीं बनाना चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार