इसलिए याद आएंगे कलाम, 8 ख़ास बातें

डॉक्टर अब्दुल कलाम इमेज कॉपीरइट AP

पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम सादगी भरे जीवन के लिए पहचाने जाते थे.

'मिसाइल मैन' कहे जाने वाले डॉक्टर कलाम भारत के सबसे लोकप्रिय राष्ट्रपतियों में से एक माने जाते हैं.

उन्हें 'आम लोगों का राष्ट्रपति' कहा जाता था.

राष्ट्रपति पद छोड़ने के बाद वह युवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए स्कूलों-कॉलेजों में संवादों में शिरकत किया करते थे.

कलाम की 8 ख़ास बातें

इमेज कॉपीरइट AFP

1. भारतीय मिसाइल कार्यक्रम में ख़ास भूमिका के लिए उन्हें 'मिसाइल मैन' जाता था. स्वदेशी तकनीक से बनी अग्नि और पृथ्वी मिसाइलों के विकास में उनका बहुत योगदान रहा.

इमेज कॉपीरइट AFP

2. उन्होंने इसरो में परियोजना निदेशक के रूप में भारत के पहले स्वदेशी उपग्रह प्रक्षेपण यान पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (पीएसएलवी)-3 के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

3. वो साल 1992 से 1999 के बीच प्रधानमंत्री के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार और डीआरडीओ सचिव रहे.

इमेज कॉपीरइट AFP

4. उन्होंने 1998 के पोखरण-2 परमाणु परीक्षण में अहम भूमिका निभाई.

5. उन्हें साल 1990 में पद्म भूषण और 1997 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया.

6. कलाम 2002 से 2007 तक भारत के 11वें राष्ट्रपति रहे.

इमेज कॉपीरइट AFP

7. उन्होंने चार किताबें लिखीं: 'विंग्स ऑफ़ फायर', 'इंडिया 2020- ए विज़न फ़ॉर द न्यू मिलेनियम', 'माई जर्नी' तथा 'इग्नाटिड माइंड्स- अनलीशिंग द पॉवर विदिन इंडिया'.

इमेज कॉपीरइट AFP

8. तमिलनाडु के रामेश्वर ज़िले में 15 अक्तूबर, 1931 को उनका जन्म हुआ. उन्होंने भौतिकी और अंतरिक्ष विज्ञान की पढ़ाई की.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार