गुरदासपुर हमला: 6 अहम सवालों के जवाब

गुरदासपुर, पंजाब, चरमपंथी हमला इमेज कॉपीरइट EPA

पंजाब के गुरदासपुर में सोमवार तड़के से अज्ञात हमलावरों और पुलिस के बीच कई घंटे चली मुठभेड़ ख़त्म हो गई है. तीनों हमलावर मारे गए हैं.

इसके अलावा, पहले पंजाब पुलिस प्रमुख के मुताबिक एसपी (डिटेक्टिव) समेत चार पुलिसकर्मी और तीन नागरिक मारे गए हैं.

पंजाब पुलिस प्रमुख सुमेध सिंह सैनी ने बताया कि तीनों चरमपंथी आर्मी वर्दी में बेहतरीन हथियारों, एक-47 राइफ़िलों, चीनी मेक के ग्रेनेड और जीपीएस सिस्टम से लैस थे.

ये घटनाक्रम तब शुरू हुआ जब गुरदासपुर के दीनानगर में तड़के हमलावरों ने पहले बस पर फ़ायरिंग की और फिर मारुति कार छीनने के बाद, पुलिस थाने पर हमला कर दिया.

इस हमले में कई लोग घायल हुए. जानिए इस घटना से जुड़ी ख़ास बातें, 6 सवालों और उनके जवाब में:

1. हमला- कब और कहां?

इमेज कॉपीरइट AP

गुरदासपुर अमृतसर से 60 किलोमीटर दूर है.

पंजाब के सीमावर्ती ज़िले गुरदासपुर से करीब 20 किलोमीटर दूर दीनानगर में तीन चरमपंथियों ने एक बस पर फ़ायरिंग कर दी. बस वाले ने बस नहीं रोकी.

(पंजाब: थाने में घिरे हमलावर, एसपी की मौत)

उसके बाद उन्होंने एक मारुति कार वाले को गोली मारी और उसकी कार में सवार होकर दीनानगर थाने पर धावा बोल दिया.

हमलावरों को थाने में सेना और पुलिस के दल ने घेर लिया और घंटों तक मुठभेड़ चली.

सरकारी टीवी दूरदर्शन के अनुसार पठानकोट-अमृतसर रेलवे ट्रैक पर पांच ज़िंदा बम बरामद किए गए हैं और कई ट्रेनों की आवाजाही भी रोक दी गई है.

इमेज कॉपीरइट Ravinder Robin

सभी रेलवे ट्रेकों और मुख्य मार्गों पर तलाशी अभियान चलाया गया.

2. कितनी मौतें?

पंजाब के पुलिस प्रमुख ने तीनों हमलावरों के मारे जाने की पुष्टि की है.

उन्होंने ये भी बताया कि गुरदासपुर के पुलिस अधीक्षक (डिटेक्टिव) बलजीत सिंह समेत चार पुलिसकर्मी और तीन आम नागरिक भी मारे गए.

3. चरमपंथी कौन और कितने?

इमेज कॉपीरइट AP

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू ने कहा, "चरमपंथी कौन है इस बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है."

पंजाब के पुलिस प्रमुख ने बताया कि चरमपंथी तीन थे.

हालाँकि वे कौन थे, इस बारे में पुलिस ने खुलकर जानकारी नहीं दी है.

4. बादल ने क्या कहा?

इमेज कॉपीरइट

पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने दोपहर को कहा, "कई सालों के बाद ऐसी घटना हुई है. ये एक राष्ट्रीय समस्या है. इसलिए इसको राष्ट्रीय नीति से ही निबटने की ज़रूरत है. ये हमला अचानक हुआ है, जवान बहादुरी से लड़ रहे हैं. पंजाब पुलिस के डीजीपी भी चंडीगढ़ से गुरदासपुर पहुँच चुके हैं."

ख़तरे के बारे में ख़ुफ़िया जानकारी के सवाल पर उन्होंने कहा, "इनपुट कहाँ दिया था? अगर इनपुट दिया था तो सीमा को सील कर दिया जाना चाहिए था."

इमेज कॉपीरइट AFP

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली में वरिष्ठ मंत्रियों के साथ बैठक की. रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर और वित्त मंत्री अरुण जेटली भी बैठक में शामिल हुए.

5. पंजाब में अलर्ट?

पंजाब में मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने आपात बैठक बुलाई है. पूरे पंजाब में अलर्ट जारी किया गया है.

हमले के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बीसीएफ़ के महानिदेशक डीके पाठक से बात की है और भारत-पाकिस्तान सीमा पर चौकसी बढ़ाने के निर्देश दिए हैं.

गृहमंत्री ने ट्वीट किया, "मैंने इस विषय में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार से भी बात की है."

इमेज कॉपीरइट AFP

मंगलवार को गृह मंत्री संसद में बयान देंगे.

6. पंजाब में आख़िरी हमला कब?

पंजाब में आख़िरी बार वर्ष 2006 में जालंधर में बम धमाका हुआ था जिसमें तीन लोग मारे गए थे.

इमेज कॉपीरइट Getty

पंजाब में इससे पहले, 1995 में तत्कालीन मुख्यमंत्री बेअंत सिंह की हत्या ही बड़ा चरमपंथी हमला माना जाता है.

1993 में पुलिस-चरमपंथी मुठभेड़ों के बाद माना जाता रहा है कि पंजाब में चरमपंथ पर काबू पा लिया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)