भारत में फांसी की सज़ा पर एक नज़र

फांसी

1993 के मुंबई सीरियल धमाकों में याक़ूब मेमन को फांसी की सज़ा सुनाई गई है. महाराष्ट्र सरकार ने 30 जुलाई को फांसी देने की तारीख मुकर्रर कर रखी है.

सुप्रीम कोर्ट में इस मामले पर अंतिम सुनवाई फांसी के ठीक एक दिन पहले हो रही है.

लेकिन फांसी की सज़ा का यह कोई अकेला मामला नहीं है.

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के मुताबिक़, साल 2004 से 2013 के बीच भारत में 1,303 लोगों को फांसी की सज़ा सुनाई गई.

हालांकि इस दौरान केवल तीन लोगों को फांसी दी गई.

इमेज कॉपीरइट Other
इमेज कॉपीरइट Other
इमेज कॉपीरइट Other
इमेज कॉपीरइट Other
इमेज कॉपीरइट Other

( इंडियास्पेंड के रिसर्च पर आधारित)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार