एफ़टीआईआई के छात्रों से मिले राहुल गांधी

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी शुक्रवार को पुणे स्थित फ़िल्म एंड टेलीवीजन इंस्टीच्यूट (एफटीआईआई) पहुंचे. यहां उन्होंने गजेंद्र चौहान को संस्था का अध्यक्ष बनाए जाने का विरोध कर रहे छात्रों से मुलाक़ात की.

भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनका विरोध किया और काले झंडे दिखाकर 'राहुल वापस जाओ' के नारे लगाए. इसी दौरान वहां मौजूद एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं के साथ उनकी हाथापाई भी हुई.

राहुल ने छात्रों से मुलाकात कर उनकी समस्याएं जानीं. एफटीआईआई में टीवी कलाकार गजेन्द्र चौहान के चयन का विरोध चल रहा है. चौहान के खिलाफ लंबे समय से छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं.

40 दिन से धरने पर बैठे स्टूडेंट्स ने कुछ दिन पहले ही राहुल गांधी को चिट्ठी लिख कर शिक्षण संस्थानों में केंद्र की दखलंदाज़ी रोकने की मांग की थी.

एफटीआईआई में चेयरमैन पद पर अभिनेता गजेंद्र चौहान के चयन का विरोध कर रहे छात्र सूचना और प्रसारण मंत्रालय द्वारा उनकी बात नहीं सुने जाने से नाराज़ हैं.

एक छात्र के सवाल का जवाब देते हुए राहुल ने कहा, ''कोई भी आप लोगों से ज़्यादा ताक़तवर नहीं है. आप सब युवा देश का भविष्य हैं, आपकी आवाज़ सरकार को सुननी ही होगी. अगर नहीं सुनते हैं तो वो इस देश के ख़िलाफ जा रहे हैं.''

भाजपा पर भी साधा निशाना

इस मौके को राहुल ने भाजपा पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा, ''भाजपा हमेशा से औसत चीज़ों को बढ़ावा देता रहा है. यही वजह है कि वो इस संस्थान में गजेन्द्र सिंह को लाना चाहते हैं.''

उन्होंने आगे कहा, ''केंद्र सरकार केवल यहीं नहीं पूरे देशभर के शिक्षण संस्थानों में दख़लअंदाज़ी कर रही है. लेकिन उन्हें यह समझना चाहिए कि उनके चाहने भर से ऐसा नहीं होगा.''

परेश रावल का पलटवार

इमेज कॉपीरइट Viacom 18 Motion Pictures

हालांकि दूसरी तरफ भाजपा के सांसद और अभिनेता परेश रावल ने भी राहुल पर पलटवार किया.

जब पत्रकारों ने उनसे इससे जुड़ा एक सवाल किया तो उन्होंने कहा, ''मेरा केवल एक सवाल है अगर छात्रों को गजेन्द्र चौहान में फिल्म निर्माता नहीं दिख रहा तो क्या वो फिल्म निर्माता वो राहुल में देख पा रहे हैं.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार