15 अगस्त समारोह में ग़ैरहाज़िर रहे तो...

लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट AP

केंद्र सरकार ने स्वतंत्रता दिवस पर नई दिल्ली के लाल क़िले पर होने वाले समारोह में आमंत्रित सभी अधिकारियों को कार्यक्रम में मौजूद रहने को कहा है.

लाल क़िले की प्राचीर पर झंडा फहराने के बाद प्रधानमंत्री देश को संबोधित करते हैं. सरकार ने कहा है कि कार्यक्रम में अधिकारियों की अनुपस्थिती को गंभीरता से लिया जाएगा.

स्वतंत्रता दिवस पर हर साल 15 अगस्त को झंडा रोहण समारोह का आयोजन किया जाता है.

राष्ट्रीय महत्व

कैबिनेट सचिव प्रदीप कुमार सिन्हा ने सभी केंद्रीय मंत्रालयों के सचिवों को लिखे पत्र में कहा है, ''राष्ट्रीय समारोह के महत्व को देखते हुए, जिसे प्रधानमंत्री संबोधित करते हैं, समारोह में आमंत्रित किए गए अधिकारियों से उम्मीद की जाती है कि वो समारोह में मौजूद रहेंगे.''

इमेज कॉपीरइट AP

पत्र के मुताबिक़ अक्सर यह देखा गया है कि आमंत्रित अधिकारियों की उपस्थित समारोह में कम रहती है. कैबिनेट सचिव ने कहा है, ''राष्ट्रीय महत्व के इस समारोह में ग़ैरमौजूदगी को स्वीकार नहीं किया जाएगा. अधिकारियों को यह बता देने की ज़रूरत है कि स्वतंत्रता दिवस समारोह में हाज़िर रहना उनकी ज़िम्मेदारी है.''

सचिवों से कहा गया है कि वो अपने उन मातहत अधिकारियों जिन्हें समारोह में बुलाया गया है, उन्हें इस बारे में निर्देश दे दें.

सिन्हा ने कहा है, ''आप उनको आगाह कर दें कि उनकी ग़ैर मौजूदगी को गंभीरता से लिया जाएगा.''

एक सरकारी अधिकारी ने बताया कि कैबिनेट सचिव के इस पत्र के बाद कई मंत्रालयों ने अपने अधिकारियों की मौजूदगी सुनिश्चित करने के लिए निर्देश देना शुरू कर दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार