'राहुल संसद में गूंगा गुड्डा, सड़क पर सूरमा'

इमेज कॉपीरइट Getty

भारतीय जनता पार्टी के नेता मुख़्तार अब्बास नक़वी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर तीखा हमला बोला है.

उन्होंने बीबीसी से बात करते हुए राहुल गांधी को 'गूंगा गुड्डा' तक कह दिया.

नक़वी ने कहा, "ग्रांड ओल्ड पार्टी के ब्रांड न्यू नेता संसद में तो गूंगा गुड्डा बने रहते हैं, लेकिन सड़क पर आकर सूरमा बनने की कोशिश करते हैं. देश जानना चाहता है कि आप विकास चाहते हैं या देश को विनाश के रास्ते ले जाना चाहते हैं."

इमेज कॉपीरइट Mike Thomson

उनके मुताबिक़ भारतीय जनता पार्टी हर मुद्दे पर बात करने को तैयार है और यदि विपक्ष सरकार से असहमत है तो संसद में वह मुद्दे उठाए और उन पर सरकार से बात करे.

वहीं कांग्रेस का कहना है कि सरकार विपक्ष के सवालों के जवाब नहीं दे रही है.

गतिरोध

नकवी ने कहा, "विपक्ष और ख़ासकर कांग्रेस के रवैए के कारण संसद में गतिरोध बना हुआ है. यदि अब भी कांग्रेस को लगता है कि वे विकास की राह में रोड़े अटका रहे हैं तो वे बात करें, देर आयद दुरुस्त आयद."

इमेज कॉपीरइट PTI

उन्होंने कांग्रेस के इस आरोप को सिरे से ख़ारिज कर दिया कि ललित मोदी, व्यापमं या किसी भी मुद्दे पर प्रधानमंत्री बोलने से बच रहे हैं.

उन्होंने कहा, "कांग्रेस ये मुद्दे संसद में उठाए तो सही, इस पर बात करे, फिर प्रधानमंत्री ज़रूर जवाब देंगे. कांग्रेस चाहती है कि नरेंद्र मोदी तमाम मुद्दों पर संसद के बाहर तब बोलें जब सत्र चल रहा हो और वे संसद न चलने दें. यह ग़लत है. वे संसद चलने दें, जो चाहें सवाल करें. पर वे ऐसा नहीं चाहते हैं."

'ज़िम्मेदारी सरकार की'

इमेज कॉपीरइट Other

वहीं कांग्रेस के सांसद दीपेंदर हुड्डा ने भारतीय जनता पार्टी पर ज़ोरदार पलटवार किया है. वे साफ़ शब्दों में कहते हैं कि संसद चलाने की ज़िम्मेदारी सरकार की है.

वो कहते हैं, "वे यह तो मानते हैं कि कांग्रेस की तरफ़ से व्यवधान था पर वो यह भी याद करें कि पिछली संसद में भाजपा ने 180 दिन सदन नहीं चलने दिया था."

हुडा ने बीबीसी से बातचीत में कहा, "भारतीय जनता पार्टी से हमने ललित मोदी के बारे में सवाल पूछा. हमने व्यापमं और एक रैंक एक पेंशन के मुद्दों पर सवाल उठाए, पर सरकार ने इसका जवाब नहीं दिया. इसके बावजूद हमने सरकार का पूरी तरह साथ दिया."

नई शुरुआत की उम्मीद

इमेज कॉपीरइट AP

इसके साथ ही कांग्रेस सांसद ने उम्मीद जताई कि सोमवार को नई शुरुआत होगी और सरकार विपक्ष के सवालों के जवाब देगी.

संसद नहीं चलने देने के मुद्दे पर वे कहते हैं, "हम रोज़ाना नियम समय से दो घंटे ज़्यादा तक संसद में रहे, हम तो पूरा सहयोग कर रहे हैं, सरकार नहीं चाहती संसद चले."

इमेज कॉपीरइट AP

सुषमा स्वराज के मुद्दे पर उन्होंने पार्टी का रुख रखते हुए कहा कि यह मामला इस सत्र के पहले ही उठा था, सरकार अब तो बताए कि वह इस मामले पर क्या कर रही है.

हुड्डा ने कहा, "हम इस्तीफ़ा मांग रहे हैं, यह सच है. पर सरकार भी तो बताए कि वह क्या कार्रवाई कर रही है. पर सरकार अपने बहुमत के घमंड में चूर है. वह चाहती है कि आंख पर पट्टी बांध कर जो चाहे करेगी, यह नहीं हो सकता."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार