मोदी-आरएसएस से देश को बचाऊंगा: राहुल गांधी

राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट RG OFFICE
Image caption राहुल गांधी ने पुणे पहुँचकर छात्रों से मुलाक़ात भी की थी.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को एफ़टीआईआई (भारतीय फ़िल्म एवं टेलीविज़न संस्थान) के अध्यक्ष पद पर गजेंद्र चौहान की नियुक्ति का विरोध कर रहे छात्रों के साथ राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाक़ात की.

राष्ट्रपति से मुलाक़ात के बाद राहुल गाँधी ने कहा, "ये हिंदुस्तान की सॉफ़्ट पावर, रचनात्मकता और मेरिट का मामला है. जो बच्चे अपनी मेरिट और योग्यता के दम पर संस्थान में पहुँचे हैं, उनके ऊपर ऐसा आदमी बिठाया जा रहा है जो उसके लायक़ नहीं है."

राहुल गांधी ने कहा, "बच्चों से कहा जा रहा है कि मेरिट और रचनात्मकता छोड़ो. आरएसएस और मोदी की पूजा करो और संस्थान में आओ."

'छात्रों की मदद'

राहुल गांधी ने कहा कि छात्र देश के लिए बड़ा काम कर रहे हैं इसलिए हम उनकी मदद कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट DEVIDAS DESHPANDE

उन्होंने राष्ट्रपति से एफ़टीआईआई विवाद निपटाने का अनुरोध किया.

एफ़टीआईआई के कई छात्र नए अध्यक्ष गजेंद्र चौहान की नियुक्ति का विरोध कर रहे हैं और दो महीने से अधिक समय से हड़ताल पर हैं.

इमेज कॉपीरइट DEVIDAS DESHPANDE

छात्रों का आरोप है कि गजेंद्र अध्यक्ष पद के योग्य नहीं हैं और उन्हें हिंदूवादी विचारधारा का समर्थक होने के कारण अध्यक्ष बनाया गया है.

दिल्ली में पत्रकारों से बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा, "मैं देश को आरएसएस और मोदी से बचाऊंगा."

राहुल गांधी ने इससे पहले पुणे जाकर संस्थान के छात्रों से मुलाक़ात की थी और उनके विरोध को समर्थन दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार