असम में बादल फटने से सात की मौत

इमेज कॉपीरइट dilip kumar sharma

असम के बरपेटा ज़िले में बादल फटने की एक घटना में सात लोगों की मौत हो गई है.

ये घटना शनिवार को मंदिया पुलिस चौकी के अंर्तगत उस समय हुई जब पास की चावलखोवा नदी में एक इंजन वाली नाव में सवार करीब 29 लोग नौका दौड़ देखने जा रहे थे.

मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने मृतकों के परिजनों को चार लाख रुपए और गंभीर रूप से घायल हुए लोगों को 10 हज़ार रुपए मुआवज़ा देने की घोषणा की है.

बरपेटा थाना प्रभारी ए कलिता ने बीबीसी को बताया कि बादल फटने की यह घटना शनिवार क़रीब 12 बजे के आसपास की है. उनके इलाके के 29 लोग एक नाव में सवार होकर मंदिया गांव में चल रहे नौका दौड़ देखने जा रहे थे.

उस समय तेज हवा के साथ भारी बारिश हो रही थी और तभी बादल फटने की यह घटना हुई. पुलिस अधिकारी ने बताया कि घटना की ख़बर मिलते ही राहत दल के लोग मौक़े पर पहुंच गए थे, लेकिन पांच लोगों की मौत अस्पताल पहुंचने से पहले ही हो गई थी. जबकि दो लोगों की मौत बाद में हुई.

भारी बारिश

इमेज कॉपीरइट dilip kumar sharna

उन्होंने कहा कि इस हादसे में घायल हुए चार लोगों को बेहतर इलाज के लिए बरपेटा सिविल अस्पताल में भेजा गया है. मरने वालों मे आठ वर्षीय अकीबुल ख़ान और 11 वर्षीय बच्ची मोइना ख़ातून शामिल हैं.

क़रीब 3500 लोगों की आबादी वाले मंदिया गांव में फिलहाल किसी अन्य क्षति की कोई रिपोर्ट सामने नहीं आई है, लेकिन ख़राब मौसम को ध्यान में रखते हुए ज़िला प्रशासन ने नौका दौड़ को रद्द कर दिया है.

बाघबोर विधानसभा सीट के विधायक शेरमान अली अहमद ने बादल फटने की इस घटना में सात लोगों के मरने की पुष्टि करते हुए इसे काफ़ी दुर्भाग्यपूर्ण बताया.

मौसम विभाग के मुताबिक अगले दो-तीन दिनों तक ज़िले के कई इलाक़ों में भारी बारिश के आसार हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार