हमें पैसा नहीं विशेष दर्जा चाहिए: नीतीश

इमेज कॉपीरइट neerajsahay

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य को विशेष दर्जा देने की मांग एक बार फिर दोहराई है और केंद्र को आगाह किया है कि टुकड़ों-टुकड़ों में चीज़े देने से कोई फ़ायदा नहीं.

स्वतंत्रता दिवस पर अपने भाषण में नीतीश कुमार ने कहा, "बिहार का विकास निश्चित तौर पर होगा. ये अपने लोगों के परिश्रम से विकसित होगा. ये किसी के आशीर्वाद और दया के कारण विकसित नहीं होगा. अगर आप (केंद्र) कुछ देना ही चाहते हो तो बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दो."

पटना के गांधी मैदान में तिरंगा फहराने के बाद अपने संबोधन में नीतीश कुमार ने कहा कि विशेष राज्य का दर्जा मिलने से राज्य के विकास की गति तेज़ होगी.

बिहार चुनाव

इमेज कॉपीरइट PTI

उन्होंने कहा, "हम पैसा नहीं मांग रहे हैं. हमें विशेष राज्य का दर्जा दीजिए. बाक़ी अपने पास रखिए. विशेष दर्जा मिलने से उद्यमियों को टैक्स में छूट मिलेगी और निवेश बढ़ेगा. फ़ैक्टरियाँ लगेंगी और युवाओं को रोज़गार मिलेगा. जो रोजगार के अभाव में दूसरे राज्य जाने को मजबूर हैं."

ये मौजूदा कार्यालय में मुख्यमंत्री के रूप में नीतीश कुमार का आख़िरी स्वतंत्रता दिवस का भाषण था. इस साल अक्तूबर-नवंबर में बिहार विधानसभा के चुनाव होने हैं.

बिहार में चुनाव की आहट नीतीश कुमार के भाषण में भी दिखी. उन्होंने कहा कि वे वो नहीं कहते जो पूरा नहीं कर सकते, वे वही कहेंगे, जो वे पूरा करके दिखाएँगे.

पिछले दिनों बिहार में चुनावी दौरे पर आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि वे बिहार को कुछ बड़ा देंगे लेकिन सही समय पर.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार