पाकिस्तान एजेंडे से भटक गया: राजनाथ सिंह

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह इमेज कॉपीरइट AFP

भारत के गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार स्तर की बातचीत रद्द होने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है.

रविवार को लखनऊ में एक प्रेसवार्ता में उन्होंने कहा कि ये बातचीत भारत ने नहीं बल्कि पाकिस्तान ने खुद एजेंडे से भटकते हुए रद्द की है.

वहीं दूसरी तरफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कश्मीर के अलगाववादी नेता शब्बीर शाह को 'हवाला के ज़रिए' चरमपंथी गतिविधियों में आर्थिक मदद के आरोप में नए सिरे से नोटिस जारी किया है.

''नहीं भटकना चाहिए था''

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ''भारत और पाकिस्तान के बीच प्रस्तावित बैठक उफ़ा में हुई दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों की बातचीत के आधार पर होनी थी. पाकिस्तान को उफ़ा में तय एजेंडा से भटकना नहीं चाहिए था.''

गृहमंत्री ने कहा, ''उसने (पाकिस्तान) खुद ही एजेंडे से भटक कर बैठक रद्द की. हमारी आगे भी पाकिस्तान से सौहार्दपूर्ण संबंधों की कोशिश रहेगी.''

शाह को तीसरा नोटिस

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption सफेद कपड़े पहने अलगाववादी नेता शब्बीर शाह

शब्बीर शाह भारत-पाकिस्तान के बीच प्रस्तावित बैठक से पहले पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सरताज अज़ीज़ से मुलाक़ात करने के लिए शनिवार को दिल्ली आए थे. तब पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया था.

डेमोक्रटिक फ्रीडम पार्टी आॅफ जम्मू एंड कश्मीर के अध्यक्ष शब्बीर शाह को फिलहाल दक्षिण दिल्ली के एक गेस्ट हाउस में रखा गया है और ये नोटिस भी उन्हें वहीं भेजा गया है.

शब्बीर शाह को नोटिस जारी करने की ईडी की यह तीसरी कोशिश है. न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के अनुसार 26 अगस्त 2005 में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मोहम्मद असलम वनी नामक हवाला कारोबारी को गिरफ्तार किया था.

इस दौरान वनी के पास से 63 लाख रुपये और बड़ी मात्रा में हथियार बरामद हुए थे. वनी ने यह दावा किया था कि उसने शब्बीर शाह को 2.25 करोड़ रुपये दिए थे.

एक तरफ जहां ईडी ने कहा कि उसके पिछले दोनों नोटिसों का शब्बीर ने जवाब नहीं दिया वहीं शब्बीर का दावा है कि उसे राजनीतिक कारणों से फंसाया जा रहा है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार