गुवाहाटी की परी बन गई मुंबई की इंद्राणी

इंद्राणी मुखर्जी इमेज कॉपीरइट FACEBOOK PAGE OF INDRANI MUKHERJEE
Image caption इंद्राणी मुखर्जी

गुवाहाटी के सुंदरपुर में उपेंद्र कुमार बोरा का ‘चाणक्य नीर’ निवास अब तक एक गुमनाम इमारत थी, लेकिन अब यह घर देश के मीडिया में छाया हुआ है.

इसी घर से इंद्राणी मुखर्जी उर्फ परी बोरा की कहानी जुड़ी हुई है, बिजनेसमैन उपेंद्र कुमार बोरा की इकलौती बेटी हैं परी बोरा.

उनकी पढ़ाई लिखाई गुवाहाटी के एक मिशनरी स्कूल में हुई.

स्कूल में साथ पढ़ी उनकी एक सहेली ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि वो स्कूली दिनों में बेहद चंचल थीं.

स्कूली पढ़ाई के बाद आगे की पढ़ाई के लिए शिलांग जाने तक परी गुवाहाटी के कुछ दोस्तों के संपर्क में थी लेकिन बाद में उन्होंने किसी से भी कोई संपर्क नहीं किया.

स्मार्ट लड़की

इमेज कॉपीरइट Dasharath Deka
Image caption इंद्राणी मुखर्जी का पैतृक घर

उपेंद्र कुमार बोरा के पड़ोसी पुतु दास बताते है कि वह इंद्राणी को बचपन से देखते आ रहे थे.

वह कहते हैं, "इंद्राणी स्कूल के दिनों से ही एक स्मार्ट लड़की थी लेकिन जब वह शिलांग पढ़ने चली गई उसके बाद से इंद्राणी के साथ हमारा कोई संपर्क नहीं रहा."

दास ने बताया, "कुछ वर्षो पहले जब वह मुंबई से गुवाहाटी लौटी तो हमने देखा अब वह पूरी तरह बदली हुई लड़की थी, दिखने में काफी प्रभावशाली. इंद्राणी के साथ अंतिम बार मुलाकात पिछले वर्ष हुई थी, वह बहुत हाई प्रोफाइल बन चुकी थी."

बोरा के एक अन्य पड़ोसी के मुताबिक, उपेंद्र कुमार बोरा का परिवार सामाजिक कामकाज से थोड़ा दूर ही रहता था और वे शायद ही कभी पड़ोसियों के साथ बातचीत कर जान पहचान बढ़ाते थे.

हालांकि उन्होंने इंद्राणी के पिता की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने अपने नाती-नतिनी मिखाइल और शीना को बहुत अच्छे तरीके से पाला था.

खाने पर बुलाया

इमेज कॉपीरइट Dashrath Deka
Image caption इंद्रणी मुखर्जी के बेटे मिखाइल

बोरा के पड़ोसी ने बताया कि इंद्राणी के मीडिया हाउस की सीईओ बनने के बाद उनके पिता ने अपने घर को नए सिरे से बनवाया, "नए घर में प्रवेश करने के अवसर पर उपेंद्र कुमार बोरा ने एक दोपहर मुझे कुछ पड़ोसियों के साथ घर पर भोजन करने के लिए आमंत्रित किया. तभी मैंने पहली और आखिरी बार इंद्राणी को देखा था".

मुंबई जाने के बाद से इंद्राणी की ज़िंदगी काफ़ी बदल गई जब उन्होंने स्टार टीवी के पूर्व प्रमुख पीटर मुखर्जी से शादी कर ली.

मुंबई पुलिस ने इंद्राणी मुखर्जी को 2012 में हुई उनकी बेटी शीना बोरा की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है.

पुलिस का दावा

मीडिया में पहले इस तरह की ख़बरें आई थीं कि शीना इंद्राणी की बहन हैं.

बाद में पीटर मुखर्जी ने कहा कि उन्हें पुलिस के ज़रिए ही पता चला है कि शीना बोरा इंद्राणी की बहन नहीं बल्कि बेटी थीं.

मुंबई पुलिस ने दावा किया है कि शीना बोरा का क़त्ल सौतेले भाई से बने प्रेम संबंध की वजह से हुई.

पुलिस के मुताबिक इंद्राणी मुखर्जी ने अपनी बेटी का कत़्ल किया क्योंकि बेटी शीना के संबंध उनके सौतेले बेटे राहुल मुखर्जी के साथ थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार