सदी के अंत तक डूब सकती है मुंबई

मुंबई इमेज कॉपीरइट AP

नासा ने कहा है कि सदी के अंत तक जलस्तर तीन फ़ीट तक बढ़ जाएगा जिससे समुद्र के किनारे बसे शहरों जैसे मुंबई, न्यूयार्क और टोक्यो के डूब जाने का ख़तरा है.

दुनियां के 15 बड़े शहरों में से 11 समंदर के किनारे बसे हैं.

गुरूवार को जारी एक इंफोग्राफ़िक में नासा ने कहा समुद्रों के अधिक गर्म होने के कारण जलस्तर 3 फ़ीट तक की बढ़ोतरी हो सकती है.

20वीं शताब्दी के आरंभ में समुद्र में जलस्तर 8 इंच तक बढ़ा था.

ग्रीन हाउस गैस

इमेज कॉपीरइट AP

नासा का कहना है कि मनुष्यों द्वारा वातावरण में छोड़ी जा रही ग्रीन हाउस गैस का 90 प्रतिशत हिस्सा समुद्र में चला जाता है.

इस कारण हाल के वर्षों में वातावरण में बदलाव आए हैं और पृथ्वी पर मौजूद बर्फ तेज़ी से पिघल रही है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption समुद्र से सटा हुआ है न्यूयार्क शहर

अरबों का नुक़सान

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption मुंबई में जुलाई के महीने में तेज़ समुद्री लहरें तट से टकराती हुई.

समुद्र के जलस्तर के बढ़ने का मतलब होगा कि पानी पहले निचले इलाकों में घुसेगा.

इसके बाद समुद्री तूफ़ान, और ऊंचे समुद्र की ओर से आने वाले तूफ़ानों के कारण पानी अंदर ऊपरी इलाकों तक पहुंचेगा.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption टोक्यो शहर

इस तरह के कारणों से समुद्र तट पर बसे शहरों में बाढ़ जैसी मुसीबतों के कारण अभी सालाना (6 बिलीयन डालर) 66 अरब रूपयों का नुक़सान हो रहा है.

यह आंकड़ा 2050 तक बढ़ कर सालाना (6 ट्रिलीयन डालर) 66 ख़रब रूपये तक हो सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार