एमएसएफ़ ने 'फैंटम' को भेजा क़ानूनी नोटिस

इमेज कॉपीरइट UTV

अंतरराष्ट्रीय राहत संस्था 'मेडिसिन सां फ्रंतिया' ने कहा कि वो बॉलीवुड फिल्म 'फैंटम' के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई कर रही है क्योंकि ये फिल्म संकटग्रस्त क्षेत्रों में उनके कर्मचारियों के लिए ख़तरा पैदा करती है.

'डॉक्टर्स विदआउट बॉर्डर्स' नाम से मशहूर एमएसएफ़़ संस्था के मुताबिक़ फिल्म में दिखाया गया है कि राहत कर्मी बनीं कैटरीना कैफ एक 'मिलते जुलते नाम वाले' काल्पनिक संगठन के साथ काम करती हैं और हथियार भी इस्तेमाल करती हैं जबकि एमएसएफ़ के कर्मचारी कभी ऐसा नहीं कर सकते.

संस्था का कहना है कि इस फिल्म के कारण उन क्षेत्रों में एमएसएफ़ के लिए काम करना मुश्किल होगा जहां उन्हें अपनी निष्पक्ष छवि के कारण ही जाने की अनुमति दी जाती है.

फिल्म के निर्माताओं की तरफ़ से इस बारे में कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है.

नोटिस का जवाब नहीं मिला

इमेज कॉपीरइट spice
Image caption फैंटम को कबीर ख़ान ने निर्देशित किया है

एमएसएफ़ की इंडिया प्रेस ऑफ़िसर पद्म प्रिया ने बीबीसी ने कहा, "हमारी संस्था में हथियारों पर पूरी तरह प्रतिबंध है. ये बात हमें बहुत ही चौकाने वाली लगी कि कुछ इस तरह की बात पेश की जा रही है."

उन्होंने बताया कि फिल्म के निर्माताओं को एमएसएफ़ की तरफ से एक नोटिस भेजा गया है.

हालांकि पद्म प्रिया का कहना है कि फिल्म में एमएसएफ़ का नाम सीधे तौर पर इस्तेमाल नहीं किया गया है.

लेकिन उनका कहना है कि फिल्म के प्रमोशन के दौरान एमएसएफ़ का नाम इस्तेमाल किए जाने से वो चिंतित हैं.

पद्म प्रिया ने बताया कि अभी तक एमएसएफ़ को फिल्म के निर्माताओं की तरफ़ से उन्हें नोटिस का कोई जवाब नहीं मिला है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)