जब 'ग्रेट खली' आधी फ़िल्म छोड़ बाहर निकल गए

द ग्रेट खली

डब्लूडब्लूई यानी वर्ल्ड रेस्लिंग एंटरटेनमेंट के बेताज बादशाह रहे भारत के द ग्रेट खली का सिनेमा से बिलकुल भी लगाव नहीं है. दलीप सिंह राना उर्फ़ द ग्रेट खली ने बीबीसी हिंदी को बताया कि उन्होंने अपने जीवन में सिर्फ़ एक फिल्म देखी है और वो भी आधी.

उन्होंने बताया, "वर्ष 1994 की बात है और मैं हिमाचल से जलंधर आया ही था और शहर में सुनील शेट्टी और अक्षय कुमार की फ़िल्म मोहरा लगी थी. एक दोस्त टिकट ले कर आया तो मुझे मजबूरी में जाना पड़ा." लेकिन कभी स्कूल न जा सके खली को इंटरवल के समय लगा कि फिल्म ख़त्म हो गई है और वे हॉल से बाहर निकल आए.

सिर्फ़ मेहनत

खली बताते हैं कि उन्हें भूख लगी थी तो बाहर निकल कर एक पूड़ी-छोले वाले के यहाँ पेट-पूजा शुरू कर दी. उन्होंने बताया, "उसने हैरानी से पूछा कि भाई आपकी फ़िल्म छूट रही है. तब जाकर एहसास हुआ कि मैं तो आधी फ़िल्म ही छोड़ आया हूँ. लेकिन फिर मैं पलट कर कभी सिनेमा देखने ही नहीं गया."

हालांकि खली चार हॉलीवुड फिल्मों में छोटे किरदार निभा चुके हैं लेकिन उन्हें सिनेमा में बिल्कुल रुचि नहीं है.

वे मानते हैं कि कुश्ती और बॉडी बिल्डिंग की बुलंदियों को छूने के लिए मनोरंजन इत्यादि त्यागना पड़ता है और जुट कर रियाज़ करना पड़ता है. शायद यही वजह है कि वर्ष 2007 में डब्लूडब्लूई चैम्पियन द अंडरटेकर को हराने वाले खली ने आज तक एक भी फ़िल्म पूरी नहीं देखी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार