'मदरसों में तिरंगा फहराना अनिवार्य'

इमेज कॉपीरइट Reuters

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश के मदरसों में राष्ट्रगान गाए जाने और राष्ट्रीय पर्व 15 अगस्त और 26 जनवरी पर तिरंगा फहराए जाने को अनिवार्य बनाने के लिए दिशा निर्देश जारी करने का सरकार को निर्देश दिया है.

अदालत का यह आदेश अलीगढ़ के सामाजिक कार्यकर्ता अजीत गौड़ की जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद आया है.

अजीत गौड़ ने याचिका में कहा था कि संविधान के अनुच्छेद 51 ए के मुताबिक सभी देशवासियों को राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्रीय गान का सम्मान करना राष्ट्रीय कर्तव्य है.

बावजूद इसके सरकारी अनुदान से चलने वाले मदरसों में न तो राष्ट्रीय गान गाया जाता है और न ही राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है.

इमेज कॉपीरइट AP

मुख्य न्यायाधीश डा.डी.वाई.चन्द्रचूड और न्यायमूर्ति यशवंत वर्मा की खण्डपीठ ने कहा है कि ध्वजारोहण का सम्मान हर विद्यालय में होना चाहिए चाहे वह मदरसे हो या अन्य कोई अंग्रेजी स्कूल.

अदालत ने इस याचिका पर प्रदेश सरकार से जवाब भी मांगा है.

अब इस मामले की अगली सुनवाई 22 सितम्बर को होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार