'हवाबाज़ी' पर कांग्रेस-भाजपा की बयानबाज़ी

इमेज कॉपीरइट Getty

भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के इस बयान पर पलटवार किया है कि चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री मोदी के वादे हवाबाज़ी साबित हुए.

भाजपा नेता और केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी ने एक प्रेस कांफ्रेस कहा कि जब-जब उन्होंने नरेंद्र मोदी पर वार किया, 'तब तब देश की जनता नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विकास के पथ पर उनके पीछे चली है.'

उन्होंने 'हवाबाज़ी' का जवाब देते हुए वन रैंक वन पेंशन को मंज़ूरी, देश भर में शौचलाय बनाने और नगा शांति समझौते को सरकार की उपलब्धियों में गिनाया.

मंगलवार को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में सोनिया गांधी ने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान मोदी जो वादे किए थे वो हवाबाज़ी के सिवा कुछ नहीं हैं.

मोदी का सहारा

इमेज कॉपीरइट Getty

सोनिया गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री 'एक असम्मानित फ़्लिप-फ़्लॉप बन कर रह गए हैं.'

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार भूमि अधिग्रण को वापस लेने के मजबूर हुई तो इसका श्रेय कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को जाता है.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान पर स्पष्ट नीति बनाने के बजाए सरकार अभी तक ये ही तय नहीं कर पा रही है कि उसे करना क्या चाहिए.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि महंगाई लगातार बढ़ रही है और अर्थव्यस्था नीचे जा रही है.

लेकिन स्मृति ईरानी ने आरोप लगाया कि सोनिया गांधी अपने 'ध्वस्त संगठन का संरक्षण' करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी पर हमलों का सहारा ले रही हैं.

वहीं, कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद ने भी स्मृति ईरानी को जबाव दिया है, "हमने 60 साल में ये कर दिया है कि स्मृति ईरानी जी मंत्री बन गईं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार