'नीतीश के जाने और एनडीए के आने का ऐलान'

इमेज कॉपीरइट Manish Shandilya

बिहार में पांच चरणों में विधानसभा चुनाव कराए जाने की घोषणा के बाद अलग अलग दलों की प्रतिक्रिया सामने आ रही है.

दीपावली से पहले ख़त्म हो जाएगा बिहार चुनाव

बुधवार को चुनावों की घोषणा होने के बाद जहां कुछ नेताओं ने पांच चरण में चुनाव कराए जाने पर सवाल उठाया है, वहीं कुछ नेता ख़ुद को चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार बता रहे हैं.

शरद यादव, जेडीयू अध्यक्ष

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

मैं महसूस करता हूं कि पांच चरण थोड़ा सा ज़्यादा हैं. मुझे पूरा विश्वास है कि हम ये चुनाव बड़े अंतर से जीतेंगे. मुझे बिहार के लोगों पर पूरा भरोसा है.

नीतीश कुमार, बिहार के मुख्यमंत्री

चुनावों की घोषणा का स्वागत करते हैं. लोग हमारे काम से संतुष्ट हैं और वो हमें वोट देंगे. बिहार में सरकारी कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में छह प्रतिशत की वृद्धि का फैसला पुराना है और ये केंद्र सरकार के मुताबिक़ है.

मुलायम सिंह जी अपना फैसला लेने के लिए स्वतंत्र हैं.

लालू प्रसाद यादव, आरजेडी प्रमुख

इमेज कॉपीरइट PTI

पांच चरण लंबा हो गया है. एक चरण में होता तो अच्छा रहता. बीच में त्योहार भी है. अब तो जो घोषणा हो गई है, ठीक है. हम पूरी तरह तैयार हैं. इस चुनाव से पूरे भारत में भाजपा सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी.

मुलायम सिंह वरिष्ठ नेता ही नहीं, हमारे समधी भी हैं. उनके साथ हमारा रोटी-बेटी का रिश्ता है, उन्हें समझाते रहेंगे.

शाहनवाज़ हुसैन, भाजपा प्रवक्ता

हम चुनाव तारीखों की घोषणा का स्वागत करते हैं. आज नीतीश के जाने और एनडीए के आने का ऐलान हुआ है.

सुशील कुमार मोदी, भाजपा नेता

इमेज कॉपीरइट Prashant Ravi

बिहार में लोग परिवर्तन चाहते हैं. बिहार की जनता केंद्र के अनुरूप बिहार में एक सरकार चाहती है. मुझे पूरा विश्वास है कि बिहार की जनता हम लोगों को भी सेवा करने का एक मौका देगी.

रविशंकर प्रसाद, केंद्रीय मंत्री

हम बहुत दिनों से तैयार हैं. बिहार एक परिवर्तन के दौर में दाखिल होने जा रहा है. लालू प्रसाद, नीतीश कुमार और सोनिया गांधी को शर्मनाक हार का सामना करना होगा. मोदी जी और एनडीए चाहते हैं कि बिहार का विकास हो और लालू जी, नीतीश जी और सोनिया जी चाहते हैं कि सिर्फ़ मोदी जी को रोकना.

रामविलास पासवान, केंद्रीय मंत्री और एलजेपी अध्यक्ष

बिहार में पांच चरण में चुनाव कराया जाना बिल्कुल सही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)