मांस पर प्रतिबंध ने बढ़ाई राजनीतिक गर्मी

इमेज कॉपीरइट Reuters

महाराष्ट्र में जैन समुदाय के पर्यूषण पर्व के दौरान मांस की ब्रिकी को लेकर लगे प्रतिबंध पर राजनीतिक पार्टियां हंगामा कर रही है

गुरुवार को महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना इस फ़ैसले के विरोध में सड़कों पर उतर आई. हालांकि बॉम्बे हाई कोर्ट भी कह चुका है कि मेट्रोपोलिटन शहरों में ऐसे निर्देश को लागू करना व्यवहारिक नहीं हैं.

एमएनएस

राज ठाकरे के नेतृत्व वाली एमएनएस ने इस फ़ैसले के विरोध में भीड़भाड़ वाले दादर इलाक़े में चिकन, मीट बेचने का स्टॉल लगाया तो उधर शिव सेना के कार्यकर्ताओं ने स्थानीय निकायों द्वारा मांस पर चार दिन 10, 13, 17 और 18 सितंबर को लगे प्रतिबंध के नोटिस को उखाड़ कर फेंक दिया.

इमेज कॉपीरइट AFP

बीजेपी ने इस प्रतिबंध का बचाव किया है लेकिन उसकी सहयोगी पार्टी शिव सेना और विपक्षी पार्टियां एमएनएस और एनसीपी ने इस प्रतिबंध को नकार दिया है.

विपक्षी पार्टियों का आरोप है कि साल 2017 में होने वाले मुंबई निकाय चुनाव से पहले बीजेपी मतदाताओं के ध्रुवीकरण की कोशिश कर रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार